हरियाणा में 'AAP और JJP' के बीच नहीं होगा गठबंधन, देशभर में अकेले चुनाव लड़ेगी पार्टी

हरियाणा में 'AAP और JJP' के बीच नहीं होगा गठबंधन, देशभर में अकेले चुनाव लड़ेगी पार्टी

Kaushlendra Pathak | Publish: Jul, 10 2019 02:41:51 PM (IST) राजनीति

  • हरियाणा विधानसभा चुनाव में AAP और JJP के बीच नहीं होगा गठबंधन
  • लोकसभा चुनाव में हरियाणा में तीन सीटों पर चुनाव लड़ी थी आम आदमी पार्टी
  • सात सीटों पर जननायक जनता पार्टी ने आजमाई थी किस्मत

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव ( Loksabha Election ) खत्म होने के बाद अब राजनीतिक पार्टियों ने तीन राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव ( vidhan sabha election ) को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। इस साल के अंत तक हरियाणा ( Haryana ), महाराष्ट्र ( Maharashtra ) और झारखंड ( Jharkhand ) में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसी कड़ी में आम आदमी पार्टी ( AAP ) ने बड़ा ऐलान किया है। आम आदमी पार्टी के नेता गोपाल राय ने कहा है कि हरियाणा में 'आप' का गठबंधन अब जननायक जनता पार्टी ( JJP ) से नहीं होगा।

मीडिया से बात करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने कहा कि अब पार्टी जहां भी चुनाव लड़ेगी किसी के साथ गठबंधन नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि हरियाणा विधानसभा चुनाव में AAP और JJP के बीच गठबंधन नहीं होगा।

साथ ही देशभर में पार्टी किसी दूसरी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं करेगी। हालांकि, गोपाल राय ने कहा कि हरियाणा में चुनाव लड़ने की रणनीति पर अभी निर्णय नहीं हुआ है।

पढ़ें- कर्नाटक संकट: राज्यपाल से मिले येदियुरप्पा, स्पीकर से की कार्रवाई की मांग

 

file photo

गौरतलब है कि हरियाणा में आम आदमी पार्टी और जननायक जनता पार्टी ने मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ा था। लेकिन, दोनों पार्टियों को करारी शिकस्त मिली थी।

चुनाव परिणाम के बाद 'आप' के हाईकमान ने हरियाणा की स्थिति पर आतंरिक समीक्षा कराई। समीक्षा के दौरान रिपोर्ट बेहद नकारात्मक रही। जिसके बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने निर्णय लिया कि साथ चुनाव लड़ना ठीक नहीं है।

पढ़ें- कर्नाटक क्राइसिस: सियासी जंग का अखाड़ा बना मुंबई, डीके शिवकुमार के खिलाफ लगे Go Back के नारे


यह था लोकसभा का समीकरण

लोकसभा चुनाव में हरियाणा की 10 सीटों पर 'जजपा' ने सात और 'आप' ने तीन सीटों पर चुनाव लड़ी थी। लेकिन, सभी सीटों पर शिकस्त मिली।

हालांकि, JJP नेता अक्सर यह कहते रहते हैं कि उनका 'आप' के साथ गठबंधन है और रहेगा।

लेकिन, आम आदमी पार्टी ने अपना रुख स्पष्ट कर दिया है। गौरतलब है कि दिल्ली में भी आप और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर जमकर राजनीति हुई थी।

लेकिन, आखिरी समय पर दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन नहीं हो सका। इसके लिए दोनों पार्टियों एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहराया था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned