फुटबॉल को बढ़ावा देने के लिए साथ आए शिवसेना के आदित्य और मनसे के अमित ठाकरे

Rahul Chauhan

Publish: Sep, 17 2017 09:42:09 (IST)

Political
फुटबॉल को बढ़ावा देने के लिए साथ आए शिवसेना के आदित्य और मनसे के अमित ठाकरे

फीफा अंडर-17 विश्व कप देश में पहली बार आयोजित हो रहा है। महाराष्ट्र में भी इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट का आयोजन पहली बार हो रहा है।

मुंबई: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे और मनसे प्रमुख राज ठाकरे के लाडले अमित ठाकरे ने एक-दूसरे से मुलाकात की है। दोनों चचेरे भाइयों के बीच यह मुलाकात मुंबई के सेंट रेजिस होटल में हुई। सूत्रों की मानें तो दोनों भाइयों के बीच यह मुलाकात लगभग एक घंटे तक चली। बताया जा रहा है कि फुटबॉल को बढ़ावा देने के सिलसिले में दोनों के बीच यह मुलाकात हुई है, लेकिन इस दौरान आदित्य ठाकरे और अमित ठाकरे में कई अन्य मुद्दों पर भी चर्चा हुई।

आपको बता दें कि चार साल पहले उद्धव ने अपने पुत्र आदित्य को राजनीति में उतारा था। तब शिवसेना के संस्थापक और आदित्य के दादा बालासाहेब ठाकरे जीवित थे। मृत्यु से पहले दिए अंतिम भाषण में बालासाहेब से शिवसैनिकों से उद्धव और आदित्य के लिए भावुक अपील की, 'जैसे मुझे संभाले रहे, इन्हें भी संभाले रखना'। उनकी 'आज्ञा' का पालन हुआ है और उद्धव के बाद आदित्य ने तब से पार्टी संगठन में दूसरा स्थान बना लिया है।

गौरतलब है कि दो दिन पहले ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र मिशन वन मिलियन लॉन्च किया है जिसके अंतर्गत राज्य भर में 10 लाख छात्र फुटबॉल खेलेंगे। फडणवीस ने इस मौके पर राज्य के खेल मंत्री विनोद तवाडे की उपस्थिति में डब्बावालों के साथ बॉम्बे जिमखाना के करीब बॉल किक की।

नेत्रहीन बच्चों सहित विभिन्न स्कूलों के छात्रों ने फुटबॉल खेली लेकिन बारिश ने उनका उत्साह कम कर दिया। फडणवीस ने कहा, फीफा अंडर-17 विश्व कप देश में पहली बार आयोजित हो रहा है। महाराष्ट्र में भी इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट का आयोजन पहली बार हो रहा है। इसके समर्थन के लिये तवाडे ने यह महा मिशन वन मिलियन शुरु करने का फैसला किया जिसके अंतर्गत 10 लाख छात्र फुटबॉल खेलेंगे। उन्होंने कहा कि पूरा महाराष्ट्र अब फुटबॉल के रंग में रंग गया है। फीफा अंडर-17 विश्व कप अगले महीने से शुरु होगा। टूर्नामेंट का फाइनल 28 अक्टूबर को कोलकाता में खेला जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned