राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपने के बाद राहुल गांधी बोले - देश में नहीं है लोकतंत्र, कांग्रेस किसानों के साथ

  • राष्ट्रपति से की कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग।
  • इस कानून से देशभर के किसानों का हो रहा है नुकसान।

By: Dhirendra

Updated: 24 Dec 2020, 01:01 PM IST

नई दिल्ली। कृषि कानूनों को रद्द करने को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को ज्ञापन सौंपने के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मीडिया के एक सवाल के जवाब में कहा कि भारत में लोकतंत्र नहीं है। यह आपकी कल्पना में हो सकता है, लेकिन वास्तविकता में ऐसा नहीं है।

देश खतरनाक रास्ते पर

राहुल गांधी ने कहा कि हमने राष्ट्रपति को दो करोड़ लोगों के हस्ताक्षर वाला ज्ञापन सौंपा है। हमने उनसे कृषि कानूनों को वापस लेने की अपील की है। नए कृषि कानूनों से देशभर के किसानों का नुकसान हो रहा है। कृषि कानूनों से कुछ उद्योगपतियों को ही लाभ पहुंचाने का काम हो रहा है। इसलिए कानून वापस न होने तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा।

राहुल गांधी ने कहा कि सत्ता से लड़ेगा उसे बीजेपी सरकार आतंकवादी कहते हैं। इसके बावजूद कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी है। देश खतरनाक रास्ते पर चल रहा है। चीन ने भारत की जमीन पर कब्जा किया। लेकिन सरकार इस मुद्दे पर चुप है।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned