अमित शाह की अगुवाई में भाजपा की बैठक खत्म, शिवराज सिंह चौहान बने सदस्यता अभियान के प्रमुख

अमित शाह की अगुवाई में भाजपा की बैठक खत्म, शिवराज सिंह चौहान बने सदस्यता अभियान के प्रमुख

Kaushlendra Pathak | Publish: Jun, 13 2019 10:17:31 AM (IST) | Updated: Jun, 13 2019 04:32:45 PM (IST) राजनीति

  • बैठक में कई अहम मुद्दों पर हुई चर्चा
  • लोकसभा चुनाव को लेकर संगठन और नए अध्यक्ष के चुनाव का कार्यक्रम स्थगित किया गया था
  • पहले होगा संगठनात्मक चुनाव, फिर नये अध्यक्ष का चयन

नई दिल्ली। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में चली पार्टी की हाई लेवल मीटिंग खत्म हो चुकी है। इस बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई। वहीं, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवराज सिंह चौहान को सदयस्ता अभियान का प्रमुख बनया गया है।

पढ़ें- मोदी कैबिनेट का फैसला: संसद में लाया जाएगा तीन तलाक विधेयक, जम्मू कश्मीर में बढ़ा राष्ट्रपति शासन

amit shah

2019 लोकसभा चुनाव को लेकर सितंबर, 2018 में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में संगठन और नए अध्यक्ष के चुनाव का कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया था। इसके लिए कार्यकारिणी में बाकायदा प्रस्ताव भी पारित किया गया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, आज की बैठक में पार्टी की इकाईयों में बूथ स्तर से ऊपर के संगठनात्मक चुनावों और सदस्यता अभियान के कार्यक्रम पर फैसला किया जाएगा।

पढ़ें- रणदीप सुरजेवाला का कांग्रेस कोर ग्रुप की बैठक के बाद बड़ा बयान, राहुल गांधी थे, हैं और रहेंगे पार्टी के अध्यक्ष

 

amit shah

नए अध्यक्ष पर हो सकता है मंथन

पार्टी के कुछ नेताओं का कहना है कि बतौर अध्यक्ष अमित शाह का कार्यकाल खत्म हो चुका है। लोकसभा चुनाव को लेकर उनका कार्यकाल बढ़ाया गया था। अमित शाह अब गृह मंत्री बन चुके हैं। लिहाजा, अब इस पद पर कोई दूसरा आसीन होगा।

पढ़ें- BJP संसदीय दल कार्यकारिणी का गठन, राजनाथ सिंह होंगे लोकसभा में पार्टी के उपनेता

इसलिए, आज की बैठक में नए अध्यक्ष पर मंथन हो सकता है। हालांकि, कहा यह भी जा रहा है कि तीन राज्यों हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव इस साल के आखिर में होने हैं। ऐसे में पार्टी उन्हें यह जिम्मेदारी निभाते रहने को भी कह सकती है।

 

amit shah

पहले होगा संगठनात्मक चुनाव

भाजपा के कुछ नेताओं का यह भी कहना है कि संगठनात्मक चुनाव पूरा होने में कई महीने का वक्त लग सकता है। लिहाजा, इस प्रक्रिया के पूरा होने के बाद ही नए पार्टी अध्यक्ष का चुनाव हो सकेगा, जो अक्टूबर-नवंबर के महीने तक जा सकता है।

साल की शुरुआत में ही खत्म हो चुका था शाह का कार्यकाल

पार्टी अध्यक्ष के बाद संगठन के प्रभारी महासचिव का भाजपा में दूसरा सबसे महत्वपूर्ण पद है। चाहे यह राज्य स्तर पर हो या फिर राष्ट्रीय स्तर पर। बतौर अध्यक्ष अमित शाह का कार्यकाल साल की शुरुआत में ही खत्म हो चुका था, लेकिन चुनाव को लेकर उन्हें पद पर बने रहने के लिए कहा गया था।

अब देखना यह है कि भाजपा की इस बैठक में क्या निर्णय लिया जाता है। देखना यह है कि अमित शाह तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों तक अध्यक्ष पद पर बने रह सकते हैं या फिर उससे पहले ही संगठन के अंदर बदलाव हो सकता है।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned