बेटे पर लगे आरोपों पर अमित शाह की सफाई, बोले- जय ने बोफोर्स की तरह दलाली नहीं खाई

Chandra Prakash

Publish: Oct, 13 2017 04:51:24 (IST) | Updated: Oct, 13 2017 05:02:31 (IST)

Political
बेटे पर लगे आरोपों पर अमित शाह की सफाई, बोले- जय ने बोफोर्स की तरह दलाली नहीं खाई

अमित शाह ने अपने बेटे जय शाह की कंपनी पर उठ रहे सवालों पर पहली बार सफाई दी है। उन्होने कहा कि जय शाह की कंपनी ने किसी तरह का भ्रष्टाचार नहीं किया है।

नई दिल्ली। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपने बेटे जय शाह की कंपनी पर उठ रहे सवालों पर पहली बार सफाई दी है। अमित शाह ने कहा कि जय शाह की कंपनी ने किसी तरह का भ्रष्टाचार नहीं किया है। उन्होंने आरोप लगाने वालों को चुनौती देते हुए कहा कि अगर किसी के पास सबूत है तो कोर्ट में पेश करे।


कांग्रेस में नैतिक साहस नहीं
एक निजी चैनल से बात करते हुए अमित शाह ने कांग्रेस पर खुलकर हमला किया। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से अबतक कांग्रेस पर कई आरोप लगे हैं, लेकिन उस पार्टी में इतना नैतिक साहस नहीं हुआ कि वो एक केस कर सके। जबकि हमारे ऊपर सिर्फ एक आरोप लगा तो हमने सौ करोड़ रुपए के मानहानि का केस कर दिया है।

Amit Shah

शाह के बेटे ने किया 100 करोड़ का मानहानि मुकदमा
बता दें कि एक न्यूज वेबसाइट में प्रकाशित रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी टेंपल इंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड के कारोबार में बेतहाशा बढ़ोत्तरी हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक नरेंद्र मोदी सरकार बनने के एक साल में टेंपल इंटरप्राइजेज का कारोबार 50 हजार रुपए से बढ़कर 80 करोड़ रुपए हो गया। इस दौरान कंपनी को डेढ़ करोड़ रुपए का घाटा हुआ को 2016 में उसे बंद कर दिया गया। जिसके बाद जय शाह ने न्यूज वेबसाइट पर 100 करोड़ रुपए के मानहानि का मुकदमा कर दिया है।


50 हजार से 80.5 करोड़ का कारोबार कैसे
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से सवाल पूछा गया था कि....आरोप लगा रहा है कि जय शाह की कंपनी का कारोबार 50 हजार से बढ़कर 80.5 करोड़ रुपए हो गया, विपक्ष पूछ रहा है कि ये कैसे हो गया।

जय की कंपनी ने बोफोर्स की तरह दलाली नहीं ली
अमित शाह ने दावा किया है कि उनके बेटे जय शाह ने सरकार से किसी तरह का लाभ नहीं लिया है। जहां तक कंपनी का सवाल है तो मैं बता दूं कि कंपनी ने एक रुपए का भी व्यापार सरकार के साथ नहीं किया है। एक रुपए की सरकारी जमीन नबीं ली है। एक रुपए का सरकारी ठेका नहीं लिया है और न ही किसी से बोफोर्स की तरह दलाली ली है।


सभी लेनदेन चेक और बैंक से हुआ
अचानक कंपनी के कारोबार में हुई वृद्धि पर शाह ने कहा कि लोग कह रहे हैं कंपनी का टर्न ओवर इतने हजार गुना बढ़ गया...तो कंपनी एक करोडड का व्यापार करेगी तो आप कहेंगे कि एक करोड़ गुना व्यापार बढ़ गया या एक करोड़ रुपए का टर्न ओवर हुआ है। ये कमोडिटी एक्सपोर्ट का व्यापार है। जिसमें टर्न ओवर ज्यादा और मुनाफा कम होता है। कंपनी ने चावल, बाजरा, मक्का इत्यादि का एक्सपोर्ट किया है और धनिया इंपोर्ट किया है। 80 करोड़ के टर्न ओवर के बाद डेढ़ करोड़ रुपए का नुकसान ही हुआ है तो मनी लॉन्ड्रिंग कहां हुई? सभी लेन-देन चेक और बैंक से हुआ है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned