विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा नेताओं के गोली वाले बयानों को गृहमंत्री ने गलत ठहराया

  • दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी 8 सीटों पर सिमटी
  • दिल्ली के लिए मेरा 45 सीटों का आकलन था : अमित शाह
  • भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने किया था 48 सीटें आने का दावा

Prashant Kumar Jha

February, 1409:15 AM

नई दिल्ली। दिल्ली में हार के बाद सार्वजनिक तौर पर पहली बार भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भाजपा नेताओं के गोली मारने वाला बयान को गलत करार दिया। साथ ही उन्होंने हार स्वीकार करते हुए कहा कि उनका दिल्ली चुनावों में 45 सीटें हासिल करने का अनुमान भी गलत साबित हुआ।

उन्होंने कहा, "मेरा आकलन 45 सीटों का था। जोकि यह गलत साबित हुआ।" लेकिन अमित शाह ने कहा कि जिस तरह से शाहीन बाग का समर्थन करने वालों को विचार रखने का हक है। उसी प्रकार से हमें भी हमारे विचार व्यक्त करने का अधिकार है, और हमने वो किया।

शाह ने नेताओं से मिलने के भी दिए संकेत

हालांकि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा भाजपा भले ही चुनाव हार गई हो, लेकिन उसने 'अपनी विचारधारा का विस्तार किया।' मीडिया से बातचीत करते हुए अमित शाह ने कहा कि पार्टी के किसी भी नेता को मुझसे मिलना है तो समय लेकर मेरे दफ्तर में आएं और खुलकर अपनी बात मुझसे रखें।

ये भी पढ़ें: दिल्ली में क्यों हुई हार, जेपी नड्डा और तिवारी में घंटों चली बैठक, कल मैराथन समीक्षा करेगी भाजपा

अमित शाह ने भाजपा नेताओं के विवादित बयानों को गलत ठहरया

अमित शाह ने अपने ईवीएम से करंट लगाने के बयान का बचाव किया। लेकिन केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर और भाजपा नेता कपिल मिश्रा के गोली मारने वाले बयानों की निंदा की और अनुचित ठहराया। बता दें कि भाजपा नेताओं के बयानों से शाह ने खुद को अलग भी बताया ।

ये भी पढ़ें: विधानसभा चुनाव के बाद मनोज तिवारी ने की इस्तीफे की पेशकश, आलाकमान ने रोका

आम आदमी पार्टी को मिली 62 सीटें

उन्होंने कहा कि भाजपा दिल्ली विधानसभा में जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका निभाएगी। भाजपा की दिल्ली विधानसभा चुनावों में करारी हार हुई है। पार्टी को सिर्फ आठ सीटें मिली हैं, जबकि आप को 62 सीटों पर जीत मिली है। बता दें कि दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव 48 सीटें मिलने का दावा किया था, लेकिन पार्टी को चुनाव में बड़ा झटका मिला।

delhi assembly election
Show More
Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned