Union Minister of State for Finance Anurag Thakur ने संसद में नेहरू पर की टिप्पणी पर जताया खेद

  • Union Minister of State for Finance Anurag Thakur के पंडित नेहरू पर विवादास्पद बयान के बाद लोकसभा की कार्यवाही चार बार स्थगित
  • Anurag Thakur ने पूर्व प्रधानमंत्री Jawahar Lal Nehru द्वारा स्थापित पीएम राष्ट्रीय राहत कोष को लेकर टिप्पणी की

By: Mohit sharma

Updated: 18 Sep 2020, 11:15 PM IST

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ( Union Minister of State for Finance Anurag Thakur ) के देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ( First Prime Minister Pandit Jawaharlal Nehru ) पर विवादास्पद बयान के बाद लोकसभा की कार्यवाही ( Lok Sabha proceedings ) शुक्रवार को चार बार स्थगित करने की नौबत आ गई। दरअसल, अनुराग ठाकुर ने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा स्थापित पीएम राष्ट्रीय राहत कोष ( PM National Relief Fund )
को लेकर टिप्पणी की। उनकी इस टिप्पणी का विपक्षी सदस्यों को विरोध जताया, जिसके बाद लोकसभा में हंगामा खड़ा हो गया। हालांकि ठाकुर ने बाद में अपनी टिप्पणी को लेकर खेद प्रकट किया। आपको बता दें कि केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने संसद में पीएम केयर्स फंड ( PM Cares Fund ) को लेकर चर्चा के दौरान गांधी परिवार को लेकर एक टिप्पणी की, जिसके बाद लोकसभा में कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कड़ा एतराज जताया।

Shopian Encounter: सैनिकों पर Afspa के उल्लंघन का आरोप, अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू

दरअसल शुक्रवार को लोकसभा में कार्यवाही के दौरान वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर पीएम केयर्स फंड को लेकर पूछे गए विपक्षी सदस्यों के सवालों का जबाव दे रहे थे। इस दौरान अनुराग ठाकुर ने कहा कि पीएम राष्ट्रीय राहत कोष को गांधी परिवार के लिए बनाया गया था। यही नहीं वित्त राज्य मंत्री ने उन सभी नामों को उजागर करने की धमकी दी, जिन्हें पीएम राष्ट्रीय राहत कोष से लाभ मिला। अनुराग के इस बयान के बाद लोकसभा में हंगामा शुरू हो गया, जिसकी वजह से सदन की कार्यवाही बाधित हो गई। अनुराग ठाकुर ने कहा कि पीएम केयर्स फंड लोगों की मदद के लिए शुरू हुआ था। जबकि विपक्ष गांधी परिवार के लिए फंड बनाता है। नेहरू और सोनिया गांधी पीएम नेशनल रिलीफ फंड के सदस्य थे। इस पर चर्चा होनी चाहिए।

देश में Private Trains कें संचालन को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, जानें कौन तय करेगा किराया?

अनुराग ठाकुर यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा कि पंडित जवाहर लाल नेहरू ने 1948 में पीएम नेशनल रिलीफ फंड बनाने का शाही आदेश दिया था, लेकिन इसका रजिस्ट्रेशन आज तक नहीं हो पाया है। उन्हें कैसे एफसीआरए का क्लीयरेंस मिला। हालांकि उन्होंने बाद में अपने बयान पर खेद भी प्रकट किया। वहीं, कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी सदस्यों ने नेहरू और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ उनकी टिप्पणी पर आपत्ति जताई थी। विपक्षी सदस्यों के विरोध के बाद अनुराग ठाकुर ने खेद प्रकट करते हुए कहा कि बयान का उद्देश्य किसी को आहत करना नहीं था। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि उनकी पार्टी के नेताओं के खिलाफ ठाकुर के बयान से उनकी पार्टी आहत है। उन्होंने कहा कि अगर भविष्य में इस तरह की बातें नहीं दोहराई गईं तो उनके सांसद खुश होंगे।

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned