Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan Latest Updates: क्यों कांग्रेस ने बदली अपनी रणनीति

  • Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan Live: कांग्रेस ( Congress ) की रणनीति में हुआ बदलाव।
  • राम मंदिर निर्माण शुरू होने से एक दिन पहले Priyanka Gandhi ने बदल दी कांग्रेस की सियासत।
  • रामलला मंदिर के भूमि पूजन को राष्ट्रीय एकता का कार्यक्रम बनाने की अपील।

 

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन ( Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan Latest Updates ) से ठीक एक दिन पहले कांग्रेस ( Congress ) ने राम मंदिर निर्माण का जोर-शोर से स्वागत किया। कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ( Priyanka Gandhi ) ने बयान जारी कर कहा कि रामलला मंदिर के भूमि पूजन को राष्ट्रीय एकता का कार्यक्रम बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि राम ( bhagwan ram ) सबके हैं।

राम मंदिर पूजन में पीएम मोदी का जाना कंफर्म, आडवाणी के जाने पर अनिश्चितता और उमा भारती ने कही यह बात

प्रियंका ने कहा कि दुनिया और भारतीय उपमहाद्वीप की संस्कृति में रामायण की गहरी और अमिट छाप है। भगवान राम, माता सीता और रामायण की गाथा हजारों वर्षों से हमारी सांस्कृतिक और धार्मिक स्मृतियों में प्रकाशपुंज की तरह आलोकित है।

प्रियंका ने आगे कहा कि भारतीय मनीषा रामायण के प्रसंगों से धर्म, नीति, कर्तव्यपरायणता, त्याग, उदात्तता, प्रेम, पराक्रम और सेवा की प्रेरणा पाती रही है। उत्तर से दक्षिण, पूरब से पश्चिम तक रामकथा अनेक रूपों में स्वयं को अभिव्यक्त करती चली आ रही है। श्रीहरि के अनगिनत रूपों की तरह ही रामकथा हरिकथा अनंता है।

उन्होंने कहा कि युग-युगांतर से भगवान राम का चरित्र भारतीय भूभाग में मानवता को जोडऩे का सूत्र रहा है। भगवान राम आश्रय हैं और त्याग भी। राम सबरी के हैं, सुग्रीव के भी। राम वाल्मीकि के हैं और भास के भी। राम कंबन के हैं और एषुत्तच्छन के भी। राम कबीर के हैं, तुलसीदास के हैं, रैदास के हैं। सबके दाता राम हैं। गांधी के रघुपति राघव राजा राम सबको सम्मति देने वाले हैं। वारिस अली शाह कहते हैं, जो रब है वही राम है।

राम मंदिर के भूमि पूजन से पहले भाजपा के पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल की बड़ी मांग, दिल्ली की बाबर रोड का बदला जाए नाम

उन्होंने कहा कि राष्ट्र कवि मैथिलीशरण गुप्त ने राम को निर्बल का बल कहा था। राम साहस हैं, राम संगम हैं, राम संयम हैं, राम सहयोगी हैं। राम सबके हैं। भगवान राम सबका कल्याण चाहते हैं। इसीलिए वे मर्यादा पुरुषोत्तम हैं। रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम रखा गया है। भगवान राम की कृपा से यह कार्यक्रम उनके संदेश को प्रसारित करने वाला राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का कार्यक्रम बनना चाहिए।

इसके बाद कांग्रेस के कई नेताओं ने राम मंदिर निर्माण ( Ram Mandir Bhumi Pujan Latest News ) पर खुशी जताते हुए इसका स्वागत किया। कांग्रेस के सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता मनीष तिवारी ने महात्मा गांधी का भजन का ट्वीट करते हुए सभी को शुभकामनाएं दी।

इसलिए बदलनी पड़ी सियासत

कांग्रेस की छवि जनता के बीच हिंदू विरोधी बनने के चलते चुनावों में खासा नुकसान हुआ। कांग्रेस को पता है कि यूपी में भाजपा राम मंदिर ( Ayodhya Ram Temple ) का मुद्दा जरूर उठाएगी। ऐसे में उसे सियासी फायदा मिलने से रोकने के लिए मंदिर में खुलकर उतरने से अच्छा कोई कदम नहीं हो सकता है।

Ram Temple निर्माण पर क्या बोले Ayodhya मामले की जांच के लिए गठित लिब्रहान आयोग के प्रमुख

गांधी परिवार की ओर से मंदिर के पक्ष में खुलकर बोलने से अब कांग्रेस के अन्य नेता विरोधाभासी बयान देने से बचेंगे। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ( Randeep Surjewala ) ने इस बयान को पार्टी लाइन बता दिया है। गौरतलब है कि इससे पहले गुजरात और राजस्थान के विधानसभा चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने मंदिरों में जाना शुरू किया था।

जबकि प्रियंका ने महासचिव पद संभालने के बाद यूपी के कई मंदिरों का दौरा किया। कांग्रेस को सॉफ्ट हिंदुत्व का फायदा चुनाव में मिला। अब कांग्रेस की नजर बिहार और उसके बाद अगले दो वर्षों में यूपी समेत कई राज्यों में होने वाले चुनाव पर है।

pm modi Coronavirus Pandemic Congress
Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned