'ठाकरे को अछूत की तरह देखते हैं गांधी, करना होगा 10 जनपथ में सरेंडर'

  • भाजपा सांसद जीवीएल नरसिम्हा राव का ठाकरे पर तंज।
  • उद्धव ठाकरे को पूरी तरह छोड़नी होगी पार्टी की विचारधारा।
  • बृहस्पतिवार को उद्धव को गोडसे भक्त करार दिया था।

Amit Kumar Bajpai

November, 2909:28 PM

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के बाद से उद्धव विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं। अब उन्हें इसकी आदत भी डाल लेनी चाहिए। भारतीय जनता पार्टी के नेता ने शुक्रवार को कहा कि अगर उद्धव ठाकरे अपनी सरकार को चलाना चाहते हैं तो उन्हें अपनी पार्टी की विचारधारा पूरी तर छोड़नी होगी और कांग्रेस के सामने सरेंडर करना पड़ेगा।

बिग ब्रेकिंगः इस राज्य सरकार ने पास कर दिया विधेयक... केवल हिंदू मुख्यमंत्री को दिया यह अधिकार और पद...

राज्यसभा में भाजपा के सांसद जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा, "एक वंश का गुलाम बनने के लिए उद्धव ठाकरे को अपनी पार्टी की विचारधारा पूरी तरह छोड़नी होगी और 10 जनपथ (कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी का आधिकारिक आवास) के आगे सरेंडर करना होगा। केवल यही एक तरीका है जिससे उनकी सरकार चल सकती है।"

राव ने आगे कहा, "महाराष्ट्र में कथित रूप से यह धर्म-निरपेक्ष सरकार और कुछ नहीं बल्कि अलग-अलग दलों का मौकापरस्त गठबंधन है, जो यहां तक एक-दूसरे के साथ तक नहीं खड़ा होना चाहते।"

बड़ा खुलासा... इस नेता ने कभी बालासाहेब ठाकरे को करवाया था गिरफ्तार... अब उद्धव ने बनाया अपना मंत्री..

भाजपा सांसद यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा, "ठाकरे को गांधी परिवार अछूत की तरह देखता है और उनके साथ मंच तक साझा नहीं करना चाहता।"

गौरतलब है कि राव ने बृहस्पतिवार को उद्धव ठाकरे द्वारा महाराष्ट्र सीएम पद की शपथ लेने के बाद उन्हें शुभकामनाएं देता हुआ तंज कसा था। एक ट्वीट में राव ने लिखा था कि गोडसे भक्त उद्धव ठाकरे को बधाई हो।

महाराष्ट्र में नई सरकार बनने से पहले राज्यपाल कोश्यारी पर ..गिरी गाज!.. इन्हें बनाया जाएगा..

इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर लिखा था, "क्या राहुल डरे हुए हैं कि उद्धव ठाकरे को गले लगाना गले से लटकने के बराबर है? शिवसेना सत्ता के लिए आवश्यक है लेकिन कांग्रेस-यूपीए के लिए अछूत। सल्तनत के गुलाम के रूप में स्वीकार्य, साथी के रूप में नहीं। कुमारस्वामी का सम्मान। उद्धव के अपमान। यह बालासाहेब ठाकरे जी का अंतिम अपमान है!"

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned