नमो टीवी पर बढ़ी भाजपा की मुश्किल, चुनाव आयोग ने माना राजनीतिक विज्ञापन

  • नमो टीवी को लेकर चुनाव आयोग सख्त
  • बढ़ सकती है भाजपा की मुश्किल
  • कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियों ने लगाया आचार संहिता उल्लंघन का आरोप

By: धीरज शर्मा

Updated: 10 Apr 2019, 11:22 AM IST

नई दिल्ली। नमो टीवी को लेकर भारती जनता पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। चुनाव आयोग ने इस राजनीतिक विज्ञापन मान लिया है। यही नहीं इससे पहले मंगलवार को चुनाव आयोग ने दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से कहा है कि नमो टीवी के कंटेंट को प्रसारण से पहले सर्टिफिकेशन पैनल से पास कराया जाना चाहिए. आयोग ने मंगलवार को कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि नमो टीवी का कंटेंट लोकल मीडिया सर्टिफिकेशन और मॉनिटरिंट कमेटी से क्लियर होकर जाए।


दरअसल चुनाव प्रचार की शुरुआत में ही भाजपा ने नमो चैनल लाकर विपक्ष और कांग्रेस को एक झटका दे दिया था। इससे कांग्रेस सहित दूसरे विपक्षी हैरान परेशान हैं। कांग्रेस ने कहा, ये तो सीधे तौर पर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है।


ये है विवाद
चुनाव प्रचार की शुरुआत में ही भाजपा ने नमो चैनल लाकर विपक्ष को एक झटका दे दिया। इससे कांग्रेस सहित दूसरे विपक्षी दल सकते में आ गए। कांग्रेस पार्टी ने कहा, ये तो सीधे तौर पर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है। आनन-फानन में शिकायत लेकर पार्टी चुनाव आयोग पहुंच गई, मगर नमो टीवी बंद नहीं हो सका। कांग्रेस पार्टी की प्रेसवार्ता में तकरीबन रोजाना यह सवाल सामने आ जाता है।

मंगलवार को प्रेसवार्ता के जरिये कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने भी कहा कि चुनाव आयोग हमारी सुनता नहीं है और ऐसे मामलों को लेकर न्यायपालिका में जा नहीं सकते। वजह, अगर अब अदालत में जाते हैं तो कोई फायदा नहीं।जब तक मामले का निपटारा होगा, चुनाव हो चुके होंगे। हमें तो मतलब फौरी राहत से है, जो चुनाव आयोग ही दे सकता है।

विपक्ष ने शिकायत में पूछा था ये सवाल
कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने इस चैनल को आचार संहिता का उल्लंघन बताते हुए चुनाव आयोग से शिकायत की थी। आप ने अपनी शिकायत में चुनाव आयोग से पूछा था, चुनाव आचार संहिता के दौरान किसी राजनीतिक दल को उसका अपना टीवी चैनल शुरू करने की इजाजत देना क्या आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है?

BJP Congress
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned