लालू यादव के जनाधार में लगेगी सेंध, बीजेपी ने बना ली है रणनीति

लालू यादव के जनाधार में लगेगी सेंध, बीजेपी ने बना ली है रणनीति

MUKESH BHUSHAN | Publish: Jan, 12 2018 07:11:02 PM (IST) राजनीति

लालू यादव को सजा होने के बाद बीजेपी राजद के जनाधार में सेंध लगाने के लिए रणनीति बना चुकी है। उसे उम्मीद है कि तेजस्वी राजद को संभाल नहीं पाएंगे।

पटना। लालू यादव को चारा घोटाले में सीबीआई कोर्ट द्वारा सजा सुनाए जाने के बाद से उनकी पार्टी राजद के भविष्य को लेकर कई कयास लगाए जा रहे हैं। बिहार में लालू यादव के नेतृत्व में राजद के पास यादवों और मुस्लिमों का मजबूत जनाधार है, जिसे अपने कब्जे में करने की कोशिश हर पार्टी कर रही है। बीजेपी को पता है कि बिहार में अपनी जड़ें मजबूत करने के लिए राजद के जनाधार में सेंध लगाना जरूरी होगा, इसके लिए उसने अपनी तरफ से कोशिशें भी जारी कर दी हैं।

लालू के रहते उनके जनाधार को तोड़ना कठिन
बीजेपी के रणनीतिकार मानते हैं कि लालू के जेल में रहते हुए उनके समर्थक जनाधार को तोड़ना कठिन नहीं होगा। बीजेपी मानती है कि उनकी पार्टी में यादव आधार से जुड़े मजबूत नेताओं की कमी नहीं है। इन मजबूत नेताओं के हिसाब से बीजेपी ने अलग-अलग क्षेत्रों के हिसाब से कार्यक्रम तैयार किए हैं। इसके रणनीति के तहत बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव और सांसद हुकुमदेव नारायण यादव को उत्तर बिहार के यादव बहुल क्षेत्रों में सांगठनिक कार्यों में लगाया गया है।

तेजस्वी के नेतृत्व में राजद में पड़ सकती है दरार
बीजेपी के एक नेता ने अपनी रणनीति के बारे में बताते हुए कहा कि लालू के बिना तेजस्वी के नेतृत्व में राजद अपने जनाधार को संभाल नहीं पाएगा। बीजेपी नेता के मुताबिक तेजस्वी यादव के नेतृत्व से राजद में जल्द ही कुछ ही नेताओं को भगदड़ महसूस होने लगेगा और पार्टी में भगदड़ मचेगी।

जनाधार बचाने को राजद की रणनीति
बता दें कि चारा घोटाले के मामले में लालू प्रसाद यादव को सजा सुनाए जाने से पहले ही राजद में मंथन बैठक हो चुकी है। इस बैठक में लालू यादव के बेटे और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा था कि उनकी पार्टी लालू यादव की आवाज जनता तक पहुंचाएंगी। इस बैठक में बड़ी संख्या में राजद के नेता और कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया था। बैठक के जरिए यह संदेश देने की कोशिश की गई थी कि पार्टी एकजुट है और अध्यक्ष लालू प्रसाद के जेल जाने के बाद भी पार्टी की सेहत पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। बैठक में पहुंचने वाले कार्यकर्ता 'हममें है लालू, तुममें है लालू, हम सबमें है लालू' का नारा लगा रहे थे और उन्होंने एक सुर में कहा था कि लालू कहीं भी रहें उनकी नीति और सिद्धांत हमारे साथ है।

Ad Block is Banned