कांग्रेस पर बरसीं मायावती, बसों को लेकर घिनौनी राजनीति का लगाया आरोप

  • BJP के समर्थन में आईं BSP Chief Mayawati
  • Congress पर Bus को लेकर घिनौनी Politics का आरोप
  • Rajasthan Govt के यूपी सरकार को बस का 36 लाख का बिल भेजने पर गर्माई सियासत

By: धीरज शर्मा

Updated: 22 May 2020, 03:01 PM IST

नई दिल्ली। देशभर में लॉकडाउन-4 ( Lockdown ) के बीच प्रवासियों की सड़क के रास्ते घर वापसी अब बस पॉलिटिक्स ( Bus Politics ) का हिस्सा बनकर रह गई है। यूपी ( UP ) और कांग्रेस ( Congress ) के बीच चल रही बस पॉलिटिक्स की आग रह-रह कर भभक रही है। अब इस राजनीति में एक नया मोड़ आ गया है। ये मोड़ है बसपा ( BSP ) सुप्रीम मायावती ( Mayawati ) की एंट्री का।

दरअसल राजस्थान सरकार ( Rajasthan govt ) ने यूपी सरकार को बसों का बिल ( Bus Bill ) थमाया। 36 लाख रुपए के इस बिल की गूंज सियासी गलियारों में भी सुनाई देने लगी हैं। इस बिल के बाद बसपा सुप्रीमो खुलकर बीजेपी ( BJP ) के सपोर्ट में आ गई और कांग्रेस पर जमकर बरसीं।

लॉकडाउन-4 के बीच बिना मास्क के घर से निकले लोग, पुलिस ने वसूला 59,800 का जुर्माना

लॉकडाउन-4 के बीच चलाई जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन में गूंज रही नन्हीं किलकारियां, जानें अब तक कितने मासूमों ने लिया जन्म

बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट के जरिये कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है। मायावती ने राजस्थान की गहलोत सरकार पर घिनौनी राजनीति करने का आरोप लगाया है।

ट्वीट में उन्होंने लिखा- 'राजस्थान की कांग्रेसी सरकार की ओर से कोटा से करीब 12000 युवा-युवतियों को वापस उनके घर भेजने पर हुए खर्च के रूप में यूपी सरकार से 36-36 लाख रुपये और देने की जो मांग की है वह उसकी कंगाली और अमानवीयता को प्रदर्शित करता है। दो पड़ोसी राज्यों के बीच ऐसी घिनौनी राजनीति अति-दुखःद है।'

मायावती ने एक के बाद एक दो ट्वीट किए। माया ने दूसरे ट्वीट में सवालिया लहजे में कहा- 'कांग्रेसी राजस्थान सरकार एक तरफ कोटा से यूपी के छात्रों को अपनी कुछ बसों से वापस भेजने के लिए मनमाना किराया वसूल रही है वहीं दूसरी तरफ अब प्रवासी मजदूरों को यूपी में उनके घर भेजने के लिए बसों की बात करके जिस तरह की राजनीतिक कर रही है यह कितना उचित और कितना मानवीय?'

इससे पहले भी मायावती कांग्रेस पर बस राजनीति को लेकर निशाना साध चुकी है। बसपा सुप्रीमो ने कहा था कि कांग्रेस मजदूरों को ट्रेनों के जरिये अपने घरों तक पहुंचाए। दरअसल कांग्रेस के प्रवासी मजूदरों की चिंता ना तो बसपा और ना ही सपा को रास आ रही है। यही वजह है कि मायावती ने एक बार फिर कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोला है।

coronavirus
Show More
धीरज शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned