रफाल डील: कांग्रेस का बड़ा हमला, कहा- एक झूठ छिपाने के लिए सौ झूठ बोल रही सरकार

रफाल डील: कांग्रेस का बड़ा हमला, कहा- एक झूठ छिपाने के लिए सौ झूठ बोल रही सरकार

Kaushlendra Pathak | Publish: Sep, 08 2018 02:07:22 PM (IST) राजनीति

रफाल डील पर कांग्रेस ने सरकार पर बड़ा हमला बोला है।

नई दिल्ली। रफाल डील को लेकर विवाद थमने का नहीं ले रहा है। कांग्रेस ने इस मामले में एक बार फिर सरकार पर बड़ा हमला बोला है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरेजवाला ने शनिवार को कहा कि अपने एक झूठ को छिपाने के लिए सरकार सौ झूट बोल रही है। उन्होंने कहा कि रफाल डील को लेकर एक और चौंकाने वाला तथ्य सामने आया है। उन्होंने कहा कि जो रफाल विमान फ्रांस से भारत आएंगे, वो भारत के हिसाब से विशिष्ठ बदलावों के बिना आएंगे।

कांग्रेस का सरकार पर बड़ा हमला

उन्होंने कहा कि डील के मुताबिक, रफाल विमानों की आपूर्ति 2022 में होगी। सुरजेवाला ने सरकार से सवाल करते हुए कहा, 'अगर साल 2015 में आपात खरीदी गई थी, तो उसकी आपूर्ति 2022 में क्यों होगी'। उन्होंने यह भी कहा कि आखिर ये आपाता खरीद कैसे हुई? कांग्रेस नेता यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि यूपीए से तीन गुणा दाम पर 36 रफाल विमान खरीद कर मोदी सरकार ने देश को बड़ा नुकसान पहुंचाया है। इतना ही नहीं 126 विमान की जगह केवल 23 लड़ाकू विमान खरीदकर मोदी सरकार ने देश की राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता किया है। उन्होंने कहा कि रफाल डील पर जेपीसी जांच कराए सरकार, जिसमें सब कुछ साफ हो जाएगा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्री मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि पीएम देश को बताएं कि उन्होंने कैसे 41,000 करोड़ का चूना लगाया है। सुरजेवाला ने यह भी सवाल उठाया कि जब यूपीए सरकार मिराज विमानों की कीमत बता सकती है, तो पीएम मोदी रफाल की कीमत क्यों छुपा रहे हैं। उन्होंने यहां तक कहा कि रफाल विमान की कीमत में बढोतरी पर मोदी सरकार का तर्क सरासर झूठ है।

2022 तक होगी रफाल विमान की सप्लाई

गौरतलब है कि समझौते के तहत सितंबर, 2019 से लड़ाकू विमान भारते आने लगेगा। वहीं, साल 2022 तक फ्रांस तक सभी ३६ लड़ाकू विमान भारत सप्लाई कर देगा। वहीं, पहले रफाल विमान का फ्रांस में टेस्ट हो गया है और बचे ३५ विमान पर सितंबर २०१९ से काम शुरू हो जाएगा।

Ad Block is Banned