कांग्रेस नेता अनिल चौधरी ने केजरीवाल से फैसला वापस लेने की मांग की, फेस मास्क पर जुर्माने से बढ़ेगा भ्रष्टाचार

  • दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा - केजरीवाल के पास विज्ञापन के लिए पैसे नहीं हैं।
  • डिफॉल्टर जुर्माने की राशि देने के बदले पुलिस से सौदेबाजी करेगा।
  • फेस मास्क पहनने के लिए लोगों को जागरूक करे दिल्ली सरकार।

By: Dhirendra

Updated: 20 Nov 2020, 11:03 AM IST

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार द्वारा फेस मास्क न पहनने वालों से 2000 हजार रुपए जुर्माना वसूलने के फैसले को दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने जन विरोधी करार दिया है। उन्होंने केजरीवाल सरकार से इस अत्याचारी फैसले को तत्काल वापस लेने की मांग की है। अनिल चौधरी ने सीएम केजरीवाल पर तंजिया लहजे में कहा है कि संभवत: केजरीवाल के पास अपने विज्ञापन के लिए पैसे कम पड़ गए हैं।

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अनिल चौधरी ने कहा कि अगर फेस मास्क न पहनने पर 2000 रुपए हर्जाना वसूल किया गया तो इस बात की क्या गारंटी है कि डिफाल्टर चालान काटने वाले अधिकारी के साथ सौदेबाजी नहीं करेगा। दिल्ली में एक तरफ कोरोना महामारी की वजह से बड़े पैमाने पर लोग बेरोजगार हैं। युवाओं के पास नौकरी नहीं है। दूसरी तरफ सरकार जुर्माना वसूलने पर उतारू है।

कांग्रेस ने किया फैसले का विरोध

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हमारी पार्टी सरकार के इस फैसले का विरोध करती है। इस फैसले को दिल्ली सरकार तुरंत वापस ले। जुर्माना लेने के बजाय सरकार फेस मास्क पहनने के लिए लोगों को जागरूकता करे। एक विकल्प यह भी है कि सरकार खुद ऐसे लोगों को फेस मास्क दे।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned