scriptCongress Leader Pandit Sukhram Passes Away at 94 year | कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय संचार मंत्री पंडित सुखराम शर्मा का निधन, विधानसभा चुनाव में उनके नाम दर्ज है यह रिकॉर्ड | Patrika News

कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय संचार मंत्री पंडित सुखराम शर्मा का निधन, विधानसभा चुनाव में उनके नाम दर्ज है यह रिकॉर्ड

कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय संचार मंत्री पंडित सुखराम शर्मा का आज निधन हो गया। उनका दिल्ली के एम्स में इलाज चल रहा था। सुखराम शर्मा हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस के बड़े नेता थे।

नई दिल्ली

Published: May 11, 2022 10:57:43 am

कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम शर्मा का निधन हो गया है। 94 साल की उम्र में उन्होंने आखिरी सांसें ली। उनके निधन की जानकारी उनके पोते आश्रय शर्मा ने सोशल मीडिया पोस्ट के माध्यम से दी। सुखराम को सात मई को नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया था। उन्हें चार मई को मनाली में ब्रेन स्ट्रोक का अटैक आया था, जिसके बाद उन्हें बेहतर इलाज के लिए दिल्ली के एम्स में लाया गया था। जहां उन्होंने आखिरी सांसें ली।

shukhram_sharma.jpg

उनके पोते आश्रय शर्मा ने फेसबुक पोस्ट पर दादा के साथ वाली एक तस्वीर साझा की है। इसके साथ उन्होंने लिखा है कि अलविदा दादाजी, अभी नहीं बजेगी फोन की घंटी। उनके निधन से हिमाचल प्रदेश कांग्रेस में एक बड़ा शून्य पैदा हुआ है। बताते चले कि पंडित सुखराम के दूसरे पोते आयूष शर्मा बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान की बहन अर्पिता के पति हैं।

1993-96 तक केंद्रीय संचार मंत्री रहे सुखराम शर्मा
पंडित सुखराम शर्मा की तबियत बिगड़ने के बाद उन्हें दिल्ली भेजने के लिए हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सात मई को सरकारी हैलीकॉप्टर उपलब्ध कराया था। पंडित सुखराम 1993 से 1996 केंद्रीय संचार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रहे थे। वे मंडी लोकसभा सीट पर सांसद भी रहे थे। उन्होंने पांच बार विधानसभा और तीन बार लोकसभा चुनावों में जीत हासिल की थी।

पहली बार निर्दलीय चुनाव लड़ा और बड़ी जीत हासिल की
बतात चले कि राजनीति से पहले पंडित सुखराम सरकारी कर्मचारी थे। वो नगर पालिका मंडी में सचिव पद कार्यरत थे। 1962 में मंडी सदर से निर्दलीय विधानसभा चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। 1967 में इन्हें कांग्रेस पार्टी का टिकट मिला और फिर से चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे। इसके बाद पंडित सुखराम ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। उन्होंने मंडी सदर विधानसभा क्षेत्र से 13 बार चुनाव लड़ा और जीत हासिल की।

यह भी पढ़ेंः
हिमाचल प्रदेश विधानसभा पर खालिस्तानी झंडे के मामले में Sikhs For Justice के मुखिया गुरपतवंत सिंह पन्नू पर केस

1998 में आय से अधिक संपत्ति के मामले में विवादों में आए
1984 में सुखराम ने कांग्रेस के टिकट पर पहला लोकसभा चुनाव लड़ा और बड़ी जीत के साथ संसद पहुंचे। हालांकि 1989 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। फिर 1991 और 1996 में पंडित सुखराम शर्मा ने लोकसभा चुनावों में दोबारा जीत हासिल की। 1998 में वो तब विवादों में आए थे जब उनपर आय से अधिक संपति मामले को लेकर सीबीआई ने छापेमारी की थी। इसके बाद पंडित सुखराम को कांग्रेस ने पार्टी से निकाल दिया था।

कांग्रेस से निकलकर खुद की पार्टी बना भाजपा को दिया था समर्थन
कांग्रेस से निकलने के बाद उन्होंने हिमाचल विकास कांग्रेस नामक खुद की पार्टी बनाई। इस पार्टी ने पूरे प्रदेश में विधानसभा का चुनाव लड़ा और पांच सीटों पर जीत हासिल की। 1998 में प्रदेश में गठबंधन की सरकार बनी और पंडित सुखराम की हिविकां ने भाजपा को समर्थन देकर प्रेम कुमार धूमल को पहली बार मुख्यमंत्री बनाने में योगदान दिया।

यह भी पढ़ेंः

हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस को बड़ा झटका, प्रदेश महासचिव अरुण शर्मा ने थामा AAP का साथ

संचार क्रांति के मसीहा कहे जाते हैं पंडित सुखराम शर्मा
पंडित सुखराम शर्मा को संचार क्रांति का मसीहा भी कहा जाता है। संचार राज्य मंत्री के रूप में उन्होंने देश भर में संचार क्रांति लाई आज भी उसका जिक्र होता है। संचार राज्य मंत्री रहते हिमाचल प्रदेश में वो संचार क्रांति ला दी थी जो शायद प्रदेश के भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए बहुत देर से पहुंचती। 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए सुखराम के पोते आश्रय शर्मा ने भाजपा से टिकट के लिए ऐड़ी-चोटी का जोर लगा दिया, लेकिन भाजपा ने मौजूदा सांसद को ही टिकट दिया। इससे नाजर होकर पंडित सुखराम दोबारा दोबारा कांग्रेस में शामिल हुए थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

अनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनीममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'भाजपा का तुगलगी शासन, हिटलर और स्टालिन से भी बदतर'Haj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानालगातार बारिश के बीच ऑरेंज अलर्ट जारी, केदारनाथ यात्रा पर लगी रोक, प्रशासन ने कहा - 'जो जहां है वहीं रहे'ज्ञानवापी केसः बहस पूरी, 1991 का वर्शिप एक्ट लागू होगा या नहीं, कल होगा फैसला, जानें सुनवाई से जुड़ी हर बातबीजेपी नेता किरीट सोमैया की पत्नी ने शिवसेना के संजय राउत के खिलाफ दर्ज कराया 100 करोड़ का मानहानि का मुकदमालैंड होते ही झटके से रूक गया यात्री विमान, सांस थामे बैठे रहे यात्री
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.