चीन के चिढ़ाने वाले बयान पर भड़की कांग्रेस, मनीष तिवारी ने पीएम से की हांगकांग और तिब्‍बत का मुद्दा उठाने की मांग

चीन के चिढ़ाने वाले बयान पर भड़की कांग्रेस, मनीष तिवारी ने पीएम से की हांगकांग और तिब्‍बत का मुद्दा उठाने की मांग

Dhirendra Kumar Mishra | Updated: 10 Oct 2019, 12:58:37 PM (IST) राजनीति

  • जम्‍मू-कश्‍मीर के मुद्दे पर चीन ने लिया यू-टर्न
  • भारत उठाए हांगकांग, तिब्‍बत और साउथ चाइना सी का मुद्दा
  • पीएम दमदार तरीके से रखें अपनी बात

नई दिल्‍ली। चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के भारत दौरे से एक दिन हपले भारत में राजनीति गरम हो गया है। कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर के मसले पर चीन की ओर से जारी बयान पर मोदी सरकार को घेर लिया है। कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने इस मसले पर केंद्र सरकार से सवाल किया और कहा कि क्यों नहीं, भारत चीन के सामने तिब्‍बत और हांगकांग का मुद्दा उठाता है। कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता तिवारी ने पीएम से इस मुद्दे को उठाने की मांग की है।

बता दें कि मनीष तिवारी ने कहा कि चीन के दौरे पर पहुंचे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की मौजूदगी में चीन ने जम्मू-कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र के नियमों के पालन की बात कही। अब इस बयान पर भारत में विवाद हो रहा है।

पीएम स्‍पष्‍ट शब्‍दों में करें चीन से बात

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने गुरुवार को ट्वीटकर कहा कि अगर शी जिनपिंग कह रहे हैं कि उनकी नजर जम्मू-कश्मीर पर है तो प्रधानमंत्री या विदेश मंत्रालय क्यों नहीं कहता है कि भारत हांगकांग में हो रहे लोकतंत्र को लेकर प्रदर्शन को लेकर चिंतित है। शिंजियांग में हो रहे मानवाधिकार के उल्लंघन, तिब्बत की स्थिति और साउथ चाइना पर चीन की दखल पर भी हिंदुस्तान की नजर है।

कश्मीर पर बयान से पलटा चीन

शी जिनपिंग के भारत आने से पहले ही चीन ने जम्मू-कश्मीर को लेकर अपने बयान पर पलटी मारी है। बीते दिनों चीन की ओर से बयान दिया गया था कि जम्मू-कश्मीर के मसले पर भारत-पाकिस्तान को आपस में बात करनी चाहिए। लेकिन जब इमरान खान चीन पहुंचे तो चीन ने अपने बयान से यू-टर्न लिया और कहा कि चीन जम्मू-कश्मीर के मसले पर करीब से नजर बनाए हुए हैं।

भारत ने जताया विरोध
चीन की ओर से जारी इस बयान पर भारत ने कड़ा विरोध जताया और कहा कि कश्मीर का मसला भारत का आंतरिक मुद्दा है ऐसे में कोई दूसरा देश इसपर बयान ना दे ते बेहतर होगा।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned