पंजाब कांग्रेस में बदलाव की तैयारी, Navjot Singh Sidhu को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

  • पंजाब कांग्रेस में जल्द बड़े बदलाव के आसार
  • कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने दिए संकेत, Navjot Singh Sidhu को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

By: धीरज शर्मा

Updated: 30 Sep 2020, 05:12 PM IST

नई दिल्ली। कांग्रेस के फायरब्रांड नेता और पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ( Navjot Singh Sidhu ) को जल्द ही बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। दरअसल कांग्रेस पंजाब में बड़े फेरबदल की तैयारी में है। हाल में हरीश रावत को पंजाब में कांग्रेस का प्रभारी बनाया गया है। इसके बाद उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्य कांग्रेस प्रमुख रावत ने कहा है कि जल्द ही नवजोत सिंह सिद्धू सक्रिय नजर आएंगे।

उन्होंने कहा कि पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू का राजनीतिक निर्वासन जल्द ही समाप्त हो सकता है। रावत के मुताबिक सिद्धू पार्टी की गतिविधियों में सक्रिय रूप से भाग लेना शुरू कर चुके हैं और जल्द ही वे कई मोर्चों पर पार्टी का नेतृत्व करते नजर आ सकते हैं।

आरजेडी से आए विधायकों को एडजस्ट करने में छूटे जेडीयू के पसीने, अब बीजेपी के फैसले पर टिकी है निगाहें

eilnwk0uyaaeb9o-e1600848446372.jpg

मानसून को लेकर मौसम विभाग ने जारी की बड़ी चेतावनी, जानें देश के किन राज्यों में अगले कुछ घंटों में होगी बारिश

नवजोत सिंह सिद्धू के प्रशंसकों के लिए ये एक अच्छी खबर हो सकती है कि जल्द ही वे राजनीति में सक्रिय नजर आएंगे। हालांकि कृषि बिल के विरोध को लेकर हाल में नवजोत सिंह सिद्धू किसानों के समर्थन में प्रदर्शन करते नजर आए थे।

इस बीच पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने भी उनको लेकर बड़ा बयान दिया है। चंडीगढ़ पहुंचने के बाद रावत ने पार्टी के कई विधायकों से मुलाकात की।

इस मुलाकात के बाद मीडिया से बात करते हुए, रावत ने कहा कि वह लगातार सिद्धू के संपर्क में हैं। यही नहीं रावत ने सिद्धू को कांग्रेस का भविष्य भी बताया। उन्होंने कहा कि सिद्धू को देश में लोकतांत्रिक ताकतों को एकजुट करने में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ काम करना चाहिए।

रावत ने ये तो नहीं कहा कि सिद्धू को क्या भूमिका सौंपी जा सकती है, लेकिन उनकी बातों से ये संकेत जरूर मिल रहा है कि सिद्धू को दोहरी जिम्मेदारी दी जा सकती है। दरअसल रावत ने कहा कि सिद्धू राजनीतिक रूप से सक्षम हैं और वे पंजाब की सेवा के साथ-साथ देश की सेवा के लिए भी आगे आएंगे। ऐसे में उम्मीद है कि पार्टी उन्हें पंजाब के साथ राष्ट्रीय स्तर पर भी कोई जिम्मेदारी सौंपे।

आपको बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू के राजनीतिक निर्वासन की बड़ी वजह मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी थे। कैप्टन से विवाद के चलते ही सिद्धू ने कैबिनेट मिनिस्टर को पद से इस्तीफा दिया था।

पुलवामा में हमले के बाद, अमरिंदर ने पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी, जबकि सिद्धू ने कहा कि पूरे देश को किसी एक गलती के लिए दोषी नहीं ठहराया जा सकता है। इसके बाद, दोनों के बीच राजनीतिक तनाव का बढ़ता गया।

बिहार में हो सकते हैं स्टार प्रचारक
आपको बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू को कांग्रेस आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में बतौर स्टार प्रचार भी उतार सकती है।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned