आखिर क्या थी वो मजबूरी, जब राहुल गांधी ने नाम बदलकर की 3 साल नौकरी

आज देश के बड़े राजनेताओं में से एक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को कभी नाम बदल कर एक कंपनी में नौकरी करनी पड़ी थी।

नई दिल्ली। राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी के नए अध्यक्ष बन गए हैं। 47 वर्षीय राहुल गांधी, गांधी परिवार के ऐसे छठे शख्स हैं जिसे कांग्रेस पार्टी की कमान सौंपी गई हैं। राहुल गांधी के अक्ष्यक्ष बनने की घोषणा होते पूरे देश के कांग्रेस कार्यालयों पर जश्न शुरु हो गया। आज देश के बड़े राजनेताओं में से एक राहुल गांधी को कभी नाम बदल कर एक कंपनी में नौकरी करनी पड़ी थी।

कभी पीएम, कभी गर्लफ्रेंड और कभी शादी...एक राहुल गांधी, हजार सवाल


नाम बदलकर की नौकरी
राहुल की पढ़ाई भारत और अमरीका में हुई है। प्रारंभिक शिक्षा दिल्ली के सेंट कोलंबस स्कूल से पूरी हुई। फिर राहुल दून स्कूल पढऩे चले गए। 1981-83 तक सुरक्षा कारणों के कारण राहुल को अपनी पढ़ाई घर से ही करनी पड़ी। इसके बाद राहुल ने हार्वर्ड यूनिचर्सिटी से ग्रेजुएशन किया। 1995 में कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के ट्रिनिटी कॉलेज से एम.फिल. की उपाधि करने वाले राहुल ने मैनेजमेंट गुरु माइकल पोर्टर की प्रबंधन परामर्श कंपनी मॉनीटर ग्रुप के साथ 3 साल तक काम किया है। इस दौरान उनकी कंपनी और सहकर्मी इस बात से पूरी तरह से अनभिज्ञ थे कि वे किसके साथ काम कर रहे हैं क्योंकि राहुल यहां एक रॉल विंसी के नाम से काम कर रहे थे।

rahul gandhi

सिर्फ नेता नहीं पायलट भी हैं राहुल
राहुल गांधी मानते हैं कि शाररिक मजूबती के लिए दिमागी मजबूती बेहद जरूरी है। टेक्नोलॉजी से लगाव रखने वाले राहुल के पास अपने पिता राजीव गांधी की तरह पायलेट का लाइसेंस हैं। इसके अलावा उन्हें तैराकी और दौड़ पसंद है। वे मेडिटेशन रोजाना करते हैं।

rahul gandhi

अईकिडो में राहुल ब्लैकबैल्ट
राहुल गांधी के मार्शल आर्ट्स कोच सेंसेई परितोस ने कहा, 'मैं राहुल गांधी से साल 2009 में मिला। तब से ही हम दोनों लगातार अभ्यास कर रहे हैं। हालांकि पिछले तीन महीने से हमने अभ्यास नहीं किया है। लेकिन इसके अलावा हम नियमित अभ्यास करते रहे हैं। राहुल तुगलक लेन स्थित हाउस में अपने अन्य दो दोस्तों के साथ ही भी अभ्यास करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि राहुल गांधी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी और रॉबर्ट वाड्रा भी उनका अभ्यास देखने आते रहे हैं। साल 2013 में मार्शल आर्ट्स के मास्टर जापान से भारत आए। इस दौरान राहुल एक प्रतियोगिता के लिए उपस्थित हुए जिसमें मास्टर ने उन्हें सफल घोषित किया। इस दौरान उन्हें ब्लैक बेल्ट से सम्मानित भी किया गया। सेंसेई परितोस कर आगे कहते हैं कि राहुल गांधी जापान भी जा चुके हैं। जहां दस दिनों के लिए मार्शल आर्ट्स कोच के साथ रुके। राहुल गांधी ने लंदन से ब्राजीलियन मार्शल आर्ट्स सीखा है। वो तलवारबाजी भी जानते हैं।

Indian National Congress
Chandra Prakash Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned