कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी की विदेश नीति पर साधा निशाना

तिवारी ने कहा, मोदी की विदेश नीति की एकमात्र उपलब्धि यह है कि अमेरिका और रूस दोनों ही पाकिस्तान को हथियार देने वाले बड़े आपूर्तिकर्ता बन गए हैं।

By: कमल राजपूत

Published: 13 Feb 2016, 05:47 PM IST

नई दिल्ली। ओबामा प्रशासन द्वारा पाकिस्तान को एफ-16 लड़ाकू विमान बेचने के मामले में कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने पीएम मोदी की विदेश नीति पर पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी विदेश नीति के मोर्चे पर एकमात्र उपलब्धि यह है कि अमेरिका और रूस दोनों ही पाकिस्तान को हथियार देने वाले बड़े आपूर्तिकर्ता बन गए हैं।

कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा, मोदी की विदेश नीति की एकमात्र उपलब्धि यह है कि अमेरिका और रूस दोनों ही पाकिस्तान को हथियार देने वाले बड़े आपूर्तिकर्ता बन गए हैं। उन्होंने कहा कि यह बात सब जानते है कि पाकिस्तान आंतक का गढ़ है, बावजूद इसके अमेरिका के काफी समय से पाकिस्तान के साथ रक्षात्मक संबंध है।

तिवारी ने बताया कि एफ-16 कोई सामरिक हथियार नहीं हैं। वह एक रणनीतिक मंच हैं, जिसमें क्षेत्र में पारंपरिक शक्ति संतुलन को भंग करने की क्षमता है। इसके साथ भारत ने शनिवार को पाकिस्तान को एफ-16 लड़ाकू विमान बेचने के ओबामा प्रशासन के फैसले पर नाराजगी जताते हुए अमेरिकी राजदूत रिचर्ड वर्मा को तलब किया था।

रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक दलों के प्रभावशाली सांसदों की ओर से बढ़ते विरोध के बावजूद अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने अमेरिकी कांग्रेस को यह अधिसूचित किया है कि उसने पाकिस्तान सरकार को एफ-16 ब्लॉक 52 विमान, उपकरण, प्रशिक्षण और साजो सामान देने की संभावित विदेश सैन्य बिक्री को मंजूरी देने का फैसला किया है। इस प्रस्ताव को अमेरिकी कांग्रेस की मंजूरी मिलना जरूरी है।

Narendra Modi pm modi
Show More
कमल राजपूत Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned