कांग्रेस की अजब मजबूरी, पश्चिम बंगाल में वाम दलों के साथ, लेकिन केरल में सीधी लड़ाई

- कांग्रेस राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा से मुकाबले के लिए टीएमसी व वामपंथी दलों का स ाथ लेती रही है।
- बंगाल में सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस का मुकाबला करने के लिए कांग्रेस का वामपंथी दलों से गठबंधन हो चुका है।
- केरल में कांग्रेस की अगुवाई वाला यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) सत्ताधारी लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) के मुकाबले में खड़ा हो रहा है।

By: विकास गुप्ता

Published: 14 Jan 2021, 10:08 AM IST

शादाब अहमद

नई दिल्ली। चुनाव जीतने के लिए राजनीतिक दलों को अजब मजबूरियों का सामना करना पड़ता है। कांग्रेस के साथ इन दिनों कुछ ऐसा ही हो रहा है। जहां केरल में सत्ताधारी वामपंथी दलों से कांग्रेस सीधा मुकाबला कर रही है, वहीं पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) से मुकाबला करने के लिए यह ही वामपंथी दल कांग्रेस के सारथी बन गए हैं। मजेदार बात यह है कि कांग्रेस राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा से मुकाबले के लिए टीएमसी व वामपंथी दलों का साथ लेती रही है।

भाजपा-कांग्रेस बना चुकी हैं अजब ढंग से सरकार-
बिहार, महाराष्ट्र और हरियाणा ऐसे राज्य हैं, जहां भाजपा और कांग्रेस ने अजब गठबंधन से सरकारें बनाई है। बिहार में 2015 के विधानसभा चुनाव में महागठबंधन में शामिल रहकर जेडीयू नेता नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बने। बीच कार्यकाल में नीतिश ने महागठबंधन छोड़कर प्रतिद्वंदी भाजपा का साथ ले लिया। इसी तरह हाल में हरियाणा में भाजपा के सामने जननायक जनता पार्टी ने चुनाव लड़ा। बाद में इन दोनों पार्टियों ने मिलकर सरकार बना ली। इसी तरह महाराष्ट्र में शिवसेना और भाजपा ने साथ चुनाव लड़ा, लेकिन मुख्यमंत्री को लेकर शिवसेना ने गठबंधन तोड़ लिया। वहीं धुुरविरोधी कांग्रेस-एनसीपी से हाथ मिलाकर सत्ता हथिया ली।

पांच राज्यों में होने वाले हैं विधानसभा चुनाव -
देश के पांच राज्यों में अगले कुछ महीनों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इसके लिए राजनीतिक दलों ने चुनावी शतरंज पर अपने मोहरे बिछाने शुरू कर दिए हैं। बंगाल में सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस का मुकाबला करने के लिए कांग्रेस का वामपंथी दलों से गठबंधन हो चुका है। जबकि केरल में कांग्रेस की अगुवाई वाला यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) सत्ताधारी लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) के मुकाबले में खड़ा हो रहा है।

दोनों पार्टियां कर रही बंगाल का नुकसान-
कांग्रेस के बंगाल इकाई के प्रदेश अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी व प्रदेश प्रभारी जितिन प्रसाद कई मौकों पर भाजपा और टीएमसी को एक जैसा बता चुके हैं। कांग्रेस ने बंगाल की कानून व्यवस्था व भ्रष्टाचार को लेकर कई बार प्रदर्शन भी किए हैं। जितिन प्रसाद का कहना है कि भाजपा और टीएमसी से बंगाल को नुकसान हो रहा है।

वामपंथी नेताओं पर सीधा हमला-
कांग्रेस केरल में वामपंथी दलों के नेताओं पर सीधा हमला बोल रही है। केरल का चुनाव वैसे भी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की प्रतिष्ठा से जुड़ा हुआ है। यहां के प्रभारी महासचिव तारिक अनवर का कहना है कि गोल्ड स्मगलिंग व ड्रग प्रकरण का मुद्दा अहम है।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned