Coronavirus: बिहार और झारखंड में 31 मार्च तक 'लॉकडाउन', पटना में एक शख्स की मौत

बिहार में आवश्यक सामग्रियों की दुकनों, बैंक, पोस्ट ऑफिस, अस्पताल, मीडिया हाउस सहित अन्य अनिवार्य सेवाओं को इस बंद से मुक्त रखा गया है।

By: Prashant Jha

Updated: 22 Mar 2020, 11:37 PM IST

नई दिल्ली। दुनियाभर में कोरोना वायरस कहर बरपा रखा है। वायरस से बिहार में भी एक शख्स की मौत हो गई है। वहीं 500 से अधिक संदिग्ध कोरोना मरीजों को आइसोलेशन के लिए रखा गया है। बताया जा रहा है कि पटना में शख्स की मौत हो गई। हालात बेकाबू होते देख बिहार और पड़ोसी राज्य झारखंड में 31 मार्च तक लॉकडाउन कर दिया गया है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के शहरी इलाकों को पूरी तरह से बंद कर दिया है। हालांकि इस दौरान आवश्यक सेवाओं को बंद करने से अलग रखा गया है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों से इसमें सहयोग करने की अपील करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से मानव जाति संकट में है।

ये भी पढ़ें: Coronavirus: मरने वालों की संख्या 7 हुई, संक्रमित मरीजों की तादाद 390 के पार

शहरी इलाकों में 31 मार्च तक बंद का ऐलान

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार की शाम राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की और उसके बाद जिला मुख्यालय, अनुमंडल मुख्यालय और प्रखंड मुख्यालय को लॉकडाउन करने की घोषणा कर दी गई। फिलहाल राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों को इससे अलग रखा गया है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आदेश में कहा गया है, "सभी जिला, अनुमंडल, प्रखंड मुख्यालयों और सभी नगर निकायों पर यह आदेश लागू रहेगा।"

आवश्यक सामग्रियों की दुकनों, बैंक, पोस्ट ऑफिस, अस्पताल, मीडिया हाउस सहित अन्य अनिवार्य सेवाओं को इस बंद से मुक्त रखा गया है।

सभी निजी प्रतिष्ठानों और दफ्तरों को बंद करने का आदेश

इस आदेश के तहत सभी सभी निजी प्रतिष्ठानों, निजी कार्यालयों एवं सार्वजनिक परिवहन को पूर्णत: बंद करने का निर्देश दिया गया है। फिहलाल यह आदेश 31 मार्च तक लागू रहेगा, उसके बाद आगे का फैसला लिया जाएगा।

ये भी पढ़ें: coronavirus लॉकडाउन के दौरान बसें, उड़ानें और ऑफिस रहेंगे बंद, इन चीज़ों पर भी पड़ेगा असर

ये सेवाएं रहेंगी चालू

नीतीश ने कहा कि लॉक डाउन में आवश्यक व अनिवार्य सेवाओं से संबंधित प्रतिष्ठानों-चिकित्सा सेवाओं, खाद्यान्न व किराने के प्रतिष्ठान, दवा की दुकानों, डेयरी- डेयरी से संबंधित प्रतिष्ठान, पेट्रोल पंप और सीएनजी स्टेशन, बैंकिंग, एटीएम, पोस्ट आफिस के अलावा प्रिंट व इलेक्ट्रनिक मीडिया आदि सेवाओं और इन सेवाओं के लिए उपयोग किए जा रहे वाहनों को इस आदेश की परिधि से बाहर रखा गया है।

बैठक के बाद बिहारवासियों के नाम संदेश जारी करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, "कोरोना वायरस से पूरी मानव जाति संकट में है। हम सब इस महामारी का डट कर मुकाबला कर रहे हैं। आवश्यक सावधनियां भी बरती जा रही हैं, लेकिन इस बीमारी की गंभीरता को देखते हुये प्रत्येक व्यक्ति का सचेत रहना आवश्यक है। इसका सबसे अच्छा उपाय 'सोशल डिस्टेंसिंग' है।"नीतीश कुमार ने बिहार के तमाम लोगों से अपील की कि कोरोना संक्रमण के खिलाफ राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही इस मुहिम में वे अपना पूरा सहयोग दें।

संकट की घड़ी में सबको एक साथ रहना होगा- नीतीश

उन्होंने कहा, "जब भी संकट का समय आया है तब हमने सभी लोगों के सहयोग से उस पर विजय पाई है। संकट की इस घड़ी में सरकार सभी लोगों के साथ है। मुझे पूरा विश्वास है कि हम सब साथ मिलकर इस चुनौती का सफलतापूर्वक सामना करने में सक्षम होंगे।" उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा, "आप सब लोग अपने घर के अंदर रहें, इधर-उधर अनावश्यक आने-जाने की जरूरत नहीं है। इन सब चीजों से संबंधित सारे मामलों की जानकारी दी जा रही है।"

Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned