CWC बैठकः सोनिया गांधी ने सरकार से की कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाने की मांग

  • Corona संकट के बीच CWC की बैठक
  • Sonia Gandhi ने PM से की मजदूरों की मदद की मांग
  • लॉकडाउन को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर लगाया आरोप

By: धीरज शर्मा

Updated: 02 Apr 2020, 03:50 PM IST

नई दिल्ली। देशभर में लगातार कोरोनावायरस ( coronavirus in india ) का खतरा बढ़ रहा है। अब तक भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 1700 के पार पहुंच चुकी है, जबकि 50 लोग इस जानलेवा वायरस के चलते अपनी जान गंवा चुके हैं। देश में फैले कोरोना संकट के बीच कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ( Sonia Gandhi ) ने मांग की है कि किसी भी हालत में देश भर में डॉक्टर, नर्स और दूसरे हेल्थ वर्कर्स को तमाम जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई जानी चाहिए।

दरअसल कांग्रेस वर्किंग कमेटी ( CWC meeting ) की मीटिंग गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ( Video confrancing ) के जरिये हुई। इस मीटिंग पूर्व पीएम मनोहन सिंह ( manmohan singh ), राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) समेत कांग्रेस के तमाम वरिष्ठ लोगों ने हिस्सा लिया।

सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार से कोरोना वायरस से युद्ध के लिए कॉमन मिनिमम प्रोग्राम ( common minimum program ) बनाने की मांग की। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में सोनिया गांधी ने साथ ही कहा कि कोविड-19 से लड़ने के लिए ज्यादा से ज्यादा और विश्वसनीय जांच के अलावा और कोई विकल्प नहीं है।

तबलीगी जमातियों ने पार की हदें, फिजूल मांगों के चलते स्वास्थ्यकर्मियों पर थूक और खांस कर बना रहे दहशत

सोनिया गांधी ने कहा, आज हम अभूतपूर्व स्वास्थ्य और मानवीय संकट के बीच मिल रहे हैं। हमारे सामने बड़ी चुनौती है लेकिन इससे जीतना उतनी ही बड़ी बात होगी।

कांग्रेस अध्यक्ष ने राज्य की कांग्रेस सरकारों, कार्यकर्ताओं, नेताओं और फ्रंटल संघटनों से मुसीबत में फंसे लोगों की हर सम्भव मदद के लिए कहा।

उन्होंने कहा इस वायरस को राजनीतिक मतभेद, धर्म, जाति, आयु, जेंडर से कोई मतलब नहीं है। यह सभी पर हमला करता है।

मनमोहन सिंहः देश के साथ खड़ी है कांग्रेस
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी कोविड-19 की चुनौती का सामना करने के लिए देश के साथ एकजुट होकर खड़ी है।

राहुल गांधी ने लॉकडाउन पर मोदी सरकार को घेरा
हमने फरवरी से दुनिया मे इस वायरस को देखा है और विशेषज्ञों से बात की है। दुनिया के किसी भी देश ने प्रवासियों को उनके भोजन और राशन की व्यवस्था किए बिना उन्हें घर से बाहर नहीं भेजा है। यह सब व्यवस्था करने के बाद ही लॉकडाउन किया गया है।

राहुल गांधी ने CWC में कहा यह वायरस वृद्ध और फेफड़े की बीमारी वाले लोगों, मधुमेह और हृदय रोग वाले व्यक्तियों पर हमला करता है। सभी राज्य सरकार को इनके लिए स्पेशल एडवाइजरी जारी करने और ध्यान रखने की आवश्यकता है।

21 दिन के लॉकडाउन के बीच बेंगलूरु पुलिस ने उठाया बड़ा कदम, जानिए क्या है पूरा मामला

मुख्यंत्रियों ने रखी अपनी बात
बैठक में कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी अपनी बात रखी। पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने प्रदेश में भोजन, दवा के इंतजाम के साथ अन्य तैयारियों की जानकारी दी।

कांग्रेस संगठन और पंजाब पुलिस के इस मुश्किल घड़ी में काम की प्रशंसा की।

वहीं छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि उनकी सरकार ने पीडीएस प्रणाली के तहत सभी परिवारों को 10 किलोग्राम राशन मुफ्त दिया है।

आंगनबाड़ियों में सभी बच्चों को उनके घर भोजन भेजा जा रहा है। हालांकि, भारत सरकार ने 2,000 करोड जीएसटी के हिस्से के नहीं दिए है।

पी चिदंबरमः संकट की व्यापकता समझ नहीं पाई सरकार
पी चिदंबरम ने कहा सरकार ने संकट की व्यापकता को पूरी तरह से नहीं समझा है। कांग्रेस को इस मुद्दे पर लगातार सरकार को समर्थन करना चाहिए। साथ ही कमियों को भी बताना चाहिए।

अहमद पटेल ने कहा कांग्रेस ने हर कदम पर सरकार का समर्थन किया है। यह भी सच्चाई है कि मीडिया कांग्रेस के सुझाव दिखाने से परहेज करता है लेकिन हम अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हट सकते।

coronavirus Congress कोरोना वायरस
Show More
धीरज शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned