मोदी सरकार पर जमकर बरसे मनमोहन सिंह, देश की हालत को लेकर लगाई क्लास

मोदी सरकार पर जमकर बरसे मनमोहन सिंह, देश की हालत को लेकर लगाई क्लास

pritesh gupta | Publish: Sep, 07 2018 10:44:11 PM (IST) | Updated: Sep, 07 2018 10:44:12 PM (IST) राजनीति

'छोटे एवं लघु उद्योगों को 'इज ऑफ डूइंग बिजनेस' योजना का पर्याप्त लाभ मिलने का अभी भी इंतजार है। उन्होंने नोटबंदी और जीएसटी से उद्योगों पर नकारात्मक असर पड़ने की भी बात कही है।'

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। सिंह कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की किताब 'शेड्स ऑफ ट्रुथ- ए जर्नी डिरेल्ड' के विमोचन के दौरान सरकार की जमकर आलोचना की। उन्होंने मेक इन इंडिया, स्टैंड अप इंडिया आदि का जिक्र करते हुए कहा कि औद्योगिक उत्पादन में ग्रोथ पर इनका सार्थक प्रभाव पड़ना अभी भी बाकी है। उन्होंने कहा कि छोटे एवं लघु उद्योगों को 'इज ऑफ डूइंग बिजनेस' योजना का पर्याप्त लाभ मिलने का अभी भी इंतजार है। उन्होंने नोटबंदी और जीएसटी से उद्योगों पर नकारात्मक असर पड़ने की भी बात कही है।

'बिगड़ते संबंधों के लिए जिम्मेदार मोदी सरकार'

जाने-माने अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह ने कहा कि युवा अभी दो करोड़ नौकरियों का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी के आंकड़ों से युवा प्रभावित नहीं हैं। उन्होंने अर्थव्यवस्था के साथ-साथ बाकी मोर्चों का भी मसला उठाया और भाजपा नीत सरकार को कृषि संकट, खराब आर्थिक स्थिति और पड़ोसी देशों के साथ बिगड़ते संबंधों के लिए जिम्मेदार ठहराया। सिंह कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की किताब 'शेड्स ऑफ ट्रथ-ए जर्नी डिरेल्ड' के लांच के मौके पर यह बातें कही।

'सिब्बल की किताब में मोदी सरकार का सच'

उन्होंने कहा, 'मोदी सरकार ने देश में मौजूद कृषि संकट का सकारात्मक ढंग से सामना नहीं किया। किसान को अभी तक उनके उत्पाद के लाभकारी मूल्य नहीं दिए गए।' उन्होंने कहा कि सिब्बल की किताब मोदी सरकार के चार वर्षों के कार्यकाल का समग्र विश्लेषण है। इसमें सरकार द्वारा 2014 लोकसभा चुनाव से पहले किए गए उन असफल वादों के बारे में बताया गया है, जिसे सरकार पूरा करने में विफल रही। मोदी के दो करोड़ नौकरियां देने के वादे के बारे में सिंह ने कहा, 'गत चार वर्षों में रोजगार दर में कमी आई है।'

बाढ़ पीड़ित केरल को मिलेगी हरसंभव मदद, खुद पीएम कर रहे हैं समीक्षाः जेपी नड्डा

Ad Block is Banned