फारूक अब्दुल्ला अस्पताल में भर्ती, कुछ दिन पहले हुए थे कोरोना पॉजिटिव

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें श्रीनगर के अस्पताल में किया गया भर्ती

By: धीरज शर्मा

Published: 03 Apr 2021, 01:51 PM IST

नई दिल्ली। नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ( Farooq Abdullah ) को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। फारूक अब्दुल्ला की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है।

फारूक के बेटे उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट के जरिए ये जानकारी दी है। आपको बता दें कि फारूक अब्दुल्ला कुछ दिन पहले ही कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे। इसके बाद उन्होंने खुद को घर में क्वारंटीन कर लिया था।

यह भी पढ़ेँः प्रियंका गांधी ने अचानक रद्द किए अपने चुनावी दौरे, जानिए क्या है पीछे की वजह

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. उन्हें तीस मार्च को कोरोना हुआ था, इसके बाद से वे होम आईसोलेशन में थे।

उनके बेटे उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट करते हुए लिखा- मेरे पिता की बेहतर निगरानी के लिए डॉक्टरों की सलाह के आधार पर उन्हें श्रीनगर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हमारा परिवार आप सभी के सपोर्ट समर्थन प्रार्थना के लिए आभारी है।

आपको बता दें कि फारुक अब्दुल्ला कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाने के 28 दिनों बाद कोरोना से संक्रमित पाए गए थे।

इस बात की जानकारी भी उनके बेटे उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट के जरिए दी थी। उन्होंने कहा था- 'मेरे पिता कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और उनमें बीमारी के कुछ लक्षण हैं। ‘हमारी जांच होने तक मैं और परिवार के अन्य सदस्य स्वयं को पृथक-वास में रख रहे हैं। मैं पिछले कुछ दिनों में हमारे संपर्क में आए हर व्यक्ति से सभी आवश्यक सावधानियां बरतने की अपील करता हूं।'

यह भी पढ़ेंः Assam Assembly Elections 2021: हिमंत बिस्वा को दोहरा झटका, अब भाई पर भी EC का बड़ा एक्शन

देशभर में कोरोना वायरस का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। खास तौर पर महाराष्ट्र में हालात काफी चिंता जनक हैं। इसके अलावा पंजाब, कर्नाटक, केरल, छत्तीसगढ़, चंडीगढ़, गुजरात, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, दिल्ली तथा हरियाणा में कोरोना की स्थिति सबसे ज्‍यादा खराब है। पिछले 15 दिनों में इन राज्यों में कोरोना के 90 फीसदी संक्रमण और मौतें दर्ज की गई हैं।

बताया जा रहा है मार्च में जो आंकड़े सामने आए हैं वो सिर्फ ट्रेलर है। अप्रैल के दूसरे हफ्ते से कोरोना संक्रमण के नए मामलों में और तेजी देखने को मिल सकती है।

Coronavirus in india
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned