1000 बसों की लिस्ट में मिला फर्जीवाड़ा, प्रियंका के निजी सचिव और प्रदेश अध्यक्ष पर FIR दर्ज

- प्रियंका गांधी वाड्रा के निजी सचिव संदीप सिंह और अजय कुमार लल्लू के खिलाफ हुई एफआईआर

- अजय कुमार लल्लू को राजस्थान-आगरा बॉर्डर से पुलिस ने लिया था हिरासत में

By: Kapil Tiwari

Updated: 20 May 2020, 07:22 AM IST

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ( priyanka gandhi vadra ) के निजी सचिव संदीप सिंह ( Sandeep singh ) और यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ( Ajay Kumar Lallu ) के खिलाफ उत्तर प्रदेश पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। इससे पहले यूपी पुलिस ने अजय कुमार लल्लू को आगरा में उनके समर्थकों समेत हिरासत में लिया था। आपको बता दें कि आगरा-राजस्थान बॉर्डर पर अजय कुमार लल्लू अपने समर्थकों के साथ धरना दे रहे थे।

कांग्रेस की लिस्ट में मिली बसों की गलत जानकारी

जानकारी के मुताबिक, संदीप सिंह और अजय कुमार के खिलाफ लखनऊ के हजरतगंज थाने में ये शिकायत दर्ज की गई है। दोनों पर बसों की गलत जानकारी देने और धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है। आपको बता दें कि कांग्रेस द्वारा जारी की गई बसों की लिस्ट में गलत जानकारी सामने आई है। कांग्रेस की 1000 बसों में कुछ बसों की नंबर प्लेट चोरी की थीं और इसकी शिकायत यूपी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने की थी। इसके बाद से ही दिनभर बीजेपी और कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर चलता रहा।

क्या है मामला?

दरअसल, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के सचिव ने राज्य सरकार को पत्र भेजकर 1000 बसों को प्रदेश में लाने की अनुमति मांगी थी। जवाब में यूपी सरकार ने मंगलवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस ने प्रवासी श्रमिकों एवं कामगारों को ले जाने के लिए जिन 1000 बसों की पेशकश की है, उनमें से कई पंजीकरण नंबर दोपहिया, तीन पहिया और कारों के हैं हालांकि कांग्रेस ने इसका खंडन करते हुए चुनौती दी कि योगी आदित्यनाथ की सरकार बसों का ‘भौतिक सत्यापन’ करा ले, लेकिन यूपी सरकार की तरफ से इसके पुख्ता सबूत दिए गए, जिसमें आरोप सही निकले।

Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned