जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती को बड़ा झटका, पूर्व वित्त मंत्री हसीब द्राबू ने दिया पीडीपी से इस्तीफा

जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती को बड़ा झटका, पूर्व वित्त मंत्री हसीब द्राबू ने दिया पीडीपी से इस्तीफा

Kapil Tiwari | Publish: Dec, 06 2018 10:06:36 PM (IST) राजनीति

हसीब द्राबू विधानसभा भंग होने के बाद इस्तीफा देने वाले पहले नेता हैं।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में पीडीपी को एक बड़ा झटका लगा है। दरअसल, महबूबा मुफ्ती के करीबी कहे जाने वाले और राज्य के पूर्व वित्त मंत्री हसीब द्राबू ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। बता देंकि हसीब द्राबू को महबूबा मुफ्ती ही नहीं बल्कि उनके पिता और पूर्व सीएम मुफ्ती मोहम्मद सईद का भी काफी खास माना जाता था। उनकी गिनती पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में होती थी। गुरुवार को उन्होंने पीडीपी से इस्तीफा दे दिया।

बीजेपी-पीडीपी की सरकार में वित्त मंत्री थे द्राबू

बता दें कि द्राबू यहां बीजेपी-पीडीपी गठबंधन की सरकार में वित्त मंत्री रह चुके हैं। इससे पहले वह जम्मू कश्मीर बैंक के सीईओ रह चुके हैं। बता दें 2015 में जम्मू कश्मीर में बीजेपी और पीडीपी सरकार के गठन में हसीब द्राबू ने अहम भूमिका निभाई थी।

विधानसभा भंग होने की वजह से दिया इस्तीफा

हसीब द्राबू ने गुरुवार को अपना इस्तीफा महबूबा मुफ्ती को सौंप दिया, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है। द्राबू ने अपने इस्तीफे में कहा है कि राज्य के विधानसभा भंग होने के साथ ही उनका विधायी दायित्व समय से पहले ही खत्म हो गया। उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि जिस समय में विधानसभा भंग की गई, वह उससे सहमत नहीं है। यह न तो लोकतांत्रिक व्यवस्था को मजबूत करता है और न ही उन्हें कोई गौरव प्रदान करता है, जिन्हें इसकी रक्षा की जिम्मेदारी दी गई।

 

Haseeb Drabu

ट्विटर पर दी इस्तीफे की जानकारी

आपको बता दें कि द्राबू बिजनेस से संबंधित एक समाचार पत्र के संपादक भी रह चुके हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ जो भी है ठीक है, मेरे लिए अब विदा लेने का समय आ गया।'' द्राबू ने यह पत्र अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया। उन्होंने कहा कि वह कुछ समय पहले से ही पार्टी के कामों से खुद को अलग कर चुके हैं।

21 नवंबर को जम्मू-कश्मीर विधानसभा हुई थी भंग

आपको बता दें कि राज्यपाल सत्यपाल मलिक द्वारा 21 नवंबर को विधानसभा भंग करने के बाद द्राबू दूसरे ऐसे नेता हैं, जिन्होंने पार्टी से इस्तीफा दिया है। इससे पहले इमरान अंसारी ने इस्तीफा दिया था।

Ad Block is Banned