घर-घर गणपति बप्पा मोरिया का जयघोष, गूंज रही आरती की स्वरलहरियां

- गणेश उत्सव के चलते शहर में भक्ति और उत्साह का नजारा , सार्वजनिक स्थलों पर इस बार नहीं सजी है झांकियां
भोपाल
गणेश उत्सव के साथ ही शहर में श्रद्धा, भक्ति, आस्था और उत्साह का नजारा दिखाई दे रहा है। गणेश उत्सव पर इस बार सार्वजनिक तौर पर शहर में बड़ी झांकियां तो नहीं सजाई लेकिन चौक चौराहों पर पंडालों में भगवान गणेश की आकर्षक प्रतिमाएं साज सज्जा के साथ विराजमान की गई है, घरों में भी आकर्षक विद्युत साज सज्जा के साथ भगवान गणेश स्थापना की गई है।

By: प्रवीण सावरकर

Published: 11 Sep 2021, 11:53 PM IST


गणेश उत्सव शुरू होते ही शहर में उत्सवी माहौल दिखाई देने लगा है। घरों में सुबह शाम शहर में आरती की स्वरलहरियां गूंज रही है। इस बार कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए पंडालों में भगवान गणेश की स्थापना की गई है। घरों में भी कई स्वरूपों के साथ गणेश प्रतिमाओं की स्थापना की है। इस बार हजारों घरों में ईको फ्रेंडली और मिट्टी की प्रतिमाएं विराजमान की है। गणेश मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना, धार्मिक अनुष्ठान शहर के गणेश मंदिरों में भगवान गणेश की विशेष पूजा अर्चना, अथर्वशीर्ष सहित अन्य महामंत्रों का जाप सहित धार्मिक अनुष्ठान किए जा रहे हैं। शहर के गणेश मंदिरों में भी विशेष पूजा अर्चना और आराधना की जा रही है।

पंडालों में भगवान गणेश की स्थापना
इस बार नए और पुराने शहरों में आकर्षक पंडाल सजाकर भगवान गणेश की स्थापना की गई है। पंडालों में कोविड नियमों के तहत आयोजन किए जा रहे हैं। भगवान का विशेष शृंगार, पूजा अर्चना के साथ सुबह शाम आरती हो रही है। सुभाष चौक, लखेरापुरा, मंगलवारा, छोला सहित अनेक स्थानों पर पंडालों में साज सज्जा के साथ भगवान गणेश की स्थापना की गई है।


बच्चे ने ऑनलाइन पढ़ाई करते हुए सजाई घर में आक र्षक झांकी
इस बार घरों में भी आकर्षक झांकी सजाई गई है, गणेश उत्सव में खासकर बच्चे काफी उत्साहित है। बच्चे जो देखते हैं, उसी को अमल में लाते हैं। इन दिनों कोविड के कारण ऑनलाइन क्लास, वर्क चल रही है। आम्र स्टेट नयापुरा कोलार रोड पर ढाई वर्षीय ओजस चौधरी ने अपने पिता डॉ दिनेश चौधरी के साथ मिलकर घर में ही मिट्टी के गणेश बनाए और गणेशजी को एक कमरे में ऑनलाइन पढ़ाई करते हुए दर्शाया। डॉ चौधरी का कहना है कि यह झांकी खाली डिब्बा, गिफ्ट पेपर, कपड़ों की लेस, लोहे के तार आदि से बनाई है। डेकोरोशन में प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं किया गया है।

प्रवीण सावरकर Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned