दावत-ए-इफ्तार पर गिरिराज वाणी, 'नवरात्रि पे फलाहार का भी आयोजन करें नेता'

दावत-ए-इफ्तार पर गिरिराज वाणी, 'नवरात्रि पे फलाहार का भी आयोजन करें नेता'

Kaushlendra Pathak | Updated: 04 Jun 2019, 03:32:51 PM (IST) राजनीति

  • इफ्तार पार्टी को लेकर गिरिराज ने नेताओं पर कसा तंज
  • दिखावे में आगे रहते हैं नेता- गिरिराज
  • गिरिराज के बयान से गरमा सकती है राजनीति

नई दिल्ली। रमजान का महीना हो और राजनीतिक गलियारों में दावत-ए-इफ्तार की चर्चा न हो ऐसा हो नहीं सकता। सभी राजनीतिक पार्टियां और नेतागण हर रमजान में इफ्तार पार्टी का आयोजन करते हैं। दावत-ए-इफ्तार के बहाने नेताओं का जमावड़ा होता है और कई बार नए सियासी समीकरण भी बनते हैं। इससे अलग भाजपा के फायरब्रांड नेता और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इफ्तार पार्टी को लेकर बड़ा तंज कसा है। उन्होंने कहा कि नेतागण जिस तरह इफ्तार पार्टी मनाते हैं और उसकी तस्वीरें शेयर करते हैं, ऐसा आयोजन नवरात्रि पर भी करते तो कितना अच्छा होता।

गिरिराज का ट्वीट

बेगूसराय से बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह ने ट्वीट करते हुए कुछ तस्वीरें शेयर की हैं। साथ ही लिखा, 'कितनी खूबसूरत तस्वीर होती जब इतनी ही चाहत से नवरात्रि पे फलाहार का आयोजन करते और सुंदर-सुदंर फ़ोटो आते??...अपने कर्म-धर्म में हम पिछड़ क्यों जाते हैं और दिखावा में आगे रहते हैं'???

केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इस बहाने बीजेपी के सहोयगी दल जेडीयू और एलजेपी पर भी निशाना साधा। इस तस्वीर में जेडीयू अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार , एलजेपी अध्यक्ष और केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान, बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, जीतन राम मांझी समेत कई नेता शामिल हैं।

iftar party

गिरिराज के बयान से गरमा सकती है सियासत

केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का यह पोस्ट तेजी से वायरल हो रहा है। महज कुछ समय में सैकड़ों लोगों ने इस पोस्ट को शेयर किया और हजारों लोगों ने इस पोस्ट को लाइक किया है। गौरतलब है कि अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले गिरिराज सिंह के बयान से एक बार फिर बिहार में राजनीति गरमाने की आशंका है। हालांकि, इस बयान पर अभी तक किसी पार्टी की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

jitan ram manjhi and nitish kumar

दावत-ए-इफ्तार में BJP-JDU के बीच दूरी

वहीं, दावत-ए-इफ्तार में जेडीयू और बीजेपी के नेता एक दूसरे के भोज में नहीं गए थे। लेकिन, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी और पासवान के घर दी गई इफ्तार पार्टी में नीतीश के शामिल होने के बाद से कई सवाल खड़े हो गए हैं। हालांकि, बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि इफ्तार का कोई राजनीतिक मतलब नहीं निकालना चाहिए।

वहीं, जीतन राम मांझी के घर हुए इफ्तार में नीतीश के शामिल होने के बाद मांझी ने कहा था कि राजनीति संभावनाओं का खेल है। गठबंधन में सबको साथ आना होगा। गठबंधन के साथ बैठकर नीतीश पर विचार किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा है कि महागठबंधन की बैठक में तय करेंगे कि बीजेपी को हटाने में नीतीश कुमार कितनी मदद कर सकते हैं। जरूरत पड़ी तो नीतीश कुमार से बात कर सकते हैं। इससे पहले आरजेडी के नेता भी नीतीश कुमार के पक्ष में कई बयान दे चुके हैं।

iftar party
IMAGE CREDIT: iftar party
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned