गो़डसे विवाद: साध्वी प्रज्ञा-हेगड़े के बयान को CPI ने बताया स्वतंत्रता आंदोलन का अपमान, BJP से की पार्टी से निकालने की मांग

गो़डसे विवाद: साध्वी प्रज्ञा-हेगड़े के बयान को CPI ने बताया स्वतंत्रता आंदोलन का अपमान, BJP से की पार्टी से निकालने की मांग

Shiwani Singh | Publish: May, 17 2019 08:28:24 PM (IST) | Updated: May, 17 2019 08:28:25 PM (IST) राजनीति

  • साध्वी ने नाथूराम गोडसे को बताया था देश का सबसे बड़ देशभक्त
  • साध्वी प्रज्ञा के बयान पर भड़के पीएम नरेंद्र मोदी
  • अमित शाह ने भी साध्वी प्रज्ञा के बयान पर जताई नाराजगी

नई दिल्ली। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को मध्य प्रदेश से प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा के देशभक्त बताने के बाद से बीजेपी चौ तरफ धीरते जा रही है। इस मामले को और भड़काने का काम बीजेपी नेता अनंत कुमार हेगड़े ने किया। प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह खुद इस मामले पर सफाई देते दिखें। वहीं, भाजपा नेताओं के बयानों को भाकपा ने दुर्भाग्यपुर्ण बताया है।

यह भी पढ़ें-'देशभक्त गोडसे' वाले बयान पर PM मोदी नाराज, 'प्रज्ञा को मन से नहीं करूंगा माफ'

भाकपा ने बीजेपी नेताओं के बयानों को आधार बनाते हुए भारतीय जानता पार्टी पर हमला बोला। लेफ्ट ने कहा कि बीजेपी इन बयानों से खुद को अलग कर अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकती। भारतीय जनता पार्टी को इन नेताओं पर तुरंत एक्सन लेते हुए पार्टी से निष्काषित कर देना चाहिए। बता दें कि शुक्रवार को एक बयान जारी कर लेफ्ट ने साध्वी प्रज्ञा और अनंत कुमार हेगड़े के बयानों को स्वतंत्रता आंदोलन का अपमान करार दिया और बीजेपी से इस मामले में देश से माफी मांगने की बात कही।

लेफ्ट ने कहा कि बीजेपी नेताओं के इन बयानों से उनकी पार्टी की विचारधारा का पता चलता है। भाकपा ने कहा, इस ऐतिहासिक तथ्य को कोई नकार नहीं सकता कि हिंदू महासभा और आरएसएस की देश के स्वतंत्रता संग्राम में कोई भूमिका नहीं रही और ना ही ये संगठन भारत के धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक संविधान से कभी सहमत रहे हैं।

यह भी पढ़ें-5 साल में पहली बार PM की प्रेस कॉन्फ्रेंस, मोदी ने अपनी बात रखी पर नहीं दिए सवालों के जवाब

कैसे शुरू हुआ विवाद

गौरतलब है कि बीते गुरुवार को प्रज्ञा ठाकुर ने मीडिया से बात करते हुए महात्मा गांधी के हत्यारे गोडसे को देश का सबसे बड़ा देशभक्त बताया था। उन्होंने कहा, 'जो लोग उन्हें आतंकवादी कहते हैं, वे अपने गिरेबां में झांककर देखें।' साध्वी के इस बायन के बाद कांग्रेस सहित सभी विपक्षी पार्टियों ने बीजेपी पर हमला बोलना शुरू कर दिया। जिसके बाद बीजेपी ने साध्वी के बयान से किनारा करते हुए इसs उनकी निजी राय बताया। विवाद बढ़ता देख साध्वी प्रज्ञा ने भी अपना बायान वापस लेते हुए माफी मांग ली। लेकिन केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने गोडसे के प्रति नजरिया बदलने की जरूरत बाला ट्वीट कर ठंडे होते विवाद को और भड़का दिया। हालांकी कुछ समय बाद उन्होंने अपना ट्वीट हटा दिया।


मोदी और शाह ने साध्वी के बयान पर जाताई नाराजगी

साध्वी प्रज्ञा के बयान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष ने भी नराजगी जताई। पीएम मोदी ने सख्ती दिखाते हुए कहा कि साध्वी प्रज्ञा ने भले ही अपने बयान पर माफी मांग ली हो लेकिन मैं उन्हें दिल से माफ नहीं कर पाऊंगा। एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में पीएम ने कहा कि महात्मा गांधी और नाथूराम गोडसे को लेकर जो भी बातें की गईं हैं, वो भयंकर खराब है। वहीं, इससे पहले अमित शाह ने भी साध्वी के बयान को गलत बताते हुए नाराजगी जाहिर की थी।

Indian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned