हामिद अंसारी का बड़ा बयान - देश धार्मिक कट्टरता और आक्रामक राष्ट्रवाद का शिकार

  • भारत में धार्मिक कट्टरता चरम पर।
  • हमने सांस्कृतिक राष्ट्रवाद का सफर तेजी से तय किया।

By: Dhirendra

Updated: 21 Nov 2020, 08:49 AM IST

नई दिल्ली। लंबे अरसे बाद देश के पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि आज हमारा देश कोरोना महामारी के अलावा दो और महामारी से जूझ रहा है। इस महामारी से हमें कोरोना से कहीं ज्यादा खतरा दिख रहा है। हामिद अंसारी ने कहा है कि भारत धार्मिक कट्टरता और आक्रामक राष्ट्रवाद का शिकार हो चुका है। जबकि इन दोनों के मुकाबले देशप्रेम अधिक सकारात्मक अवधारणा है। देश प्रेम सैन्य और सांस्कृतिक रूप से कहीं ज्यादा रक्षात्मक है।

दिल्ली हिंसा पर पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का दावा, सरकार चाहती तो दंगा नहीं होता

सांस्कृतिक राष्ट्रवाद तेजी से उभरा

ये बात पूर्व उप राष्ट्रपति अंसारी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर की नई पुस्तक द बैटल ऑफ बिलॉन्गिंग के डिजिटल विमोचन के मौके पर कही। हामिद अंसारी के मुताबिक चार वर्षों की अल्पावधि में भी भारत ने सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की एक ऐसी नई राजनीतिक परिकल्पना का सफर तय किया है जो सार्वजनिक क्षेत्र में मजबूती से घर कर गई है।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned