जयललिता निधन मामले में वकील का आरोप, हॉस्पिटल और हेल्थ सेक्रेटरी ने इलाज में की साजिश

पैनल के अधिवक्ता ने राज्य के हेल्थ सेक्रेटरी जे राधाकृष्णन और अपोलो हॉस्पिटल पर दिवंगत सीएम के इलाज में मिलीभगत और साजिश रचने का बड़ा आरोप लगाया है।

By: Mohit sharma

Updated: 30 Dec 2018, 03:08 PM IST

नई दिल्ली। तमिलनाडु की दिवंगत सीएम जे जयललिता के निधन की जांच में नया मोड़ आ गया है। जांच कर रहे पैनल के अधिवक्ता ने राज्य के हेल्थ सेक्रेटरी जे राधाकृष्णन और अपोलो हॉस्पिटल पर दिवंगत सीएम के इलाज में मिलीभगत और साजिश रचने का बड़ा आरोप लगाया है। इसके साथ ही अधिवक्ता मोहम्‍मद जफरउल्‍लाह खान ने भी पूर्व प्रमुख सचिव रामा मोहन राव पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन पर आरोप है कि उन्होंने जानबूझकर गलत सबूत पेश किए।

इलाज को लेकर बड़ी कोताही बरती गई

इस दौरान अधिवक्ता ने कार्डियोथोरेसिक सर्जन के बयान के आधार पर यह निष्‍कर्ष निकाला है कि अपोलो हॉस्पिटल में जयललिता के इलाज को लेकर बड़ी कोताही बरती गई है। वहीं, डॉक्‍टर ने बयान में शामिल इस वाक्‍य विशेष पर आपत्ति जताई है। डॉक्टर का कहना है कि इसे 29 नवंबर को गलत तरह से शामिल किया गया। हालांकि पैनल ने डॉक्टर्स के विरोध को गंभीरता से नहीं लिया है।

नोटिस जारी करने का अनुरोध

उधर, पैनल के अधिवक्ता मोहम्‍मद जफरउल्‍लाह खान ने गुरुवार को सेवानिवृत न्यायधीश ए अरुमुगास्‍वामी आयोग के सामने याचिका दायर करते हुए ये आरोप लगाए। इस दौरान खान ने आयोग से राधाकृष्णन और राव को नोटिस जारी करने का अनुरोध भी किया।

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned