ज्योतिरादित्य सिंधिया का दावा, 2019 में राहुल गांधी बन सकते हैं मोदी का विकल्प

ज्योतिरादित्य सिंधिया का दावा, 2019 में राहुल गांधी बन सकते हैं मोदी का विकल्प

Siddharth chaurasia | Updated: 08 Apr 2018, 03:28:27 PM (IST) राजनीति

आगामी विधानसभा और 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव पर उन्होंने कहा कि उनके लिए हर चुनाव महत्वपूर्ण है।

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सबसे करीबी माने जाने वाले सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दावा किया है कि राहुल गांधी पीएम नरेंद्र मोदी का अगला विकल्प बन सकते हैं। सिंधिया ने एक चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि राहुल गांधी मोदी के विकल्प के रूप में तैयार हो चुके हैं और देश की जनता का विश्वास जीतने में भी वो पूरी तरह सफल होंगे।

कांग्रेस का कठिन दौर

वहीं मौजूदा वक्त में कांग्रेस पार्टी की स्थति को लेकर सिंधिया ने माना कि ये कांग्रेस का सबसे कठिन दौर चल रहा है। इसमें कोई दो राय नहीं कि हमारे लिए कठिन वक्त नहीं है। जब सिंधिया से पूछा गया कि वो कौन से चार मुद्दे होंगे जो 2019 में केंद्र सरकार की चार्जशीट बन सकते हैं? तो उन्होंने कहा, ‘केंद्र सरकार की चार्जशीट सिर्फ चार मुद्दों पर नहीं बल्कि अनेकों मुद्दों पर बनेगी। चाहे आंतरिक सुरक्षा का मामला हो या देश के अंदर का वातावरण हो, चाहे विदेश नीति की बात हो या डोकलाम हो, पाकिस्तान की बात हो या फिर मालदीव की, बेरोजगारी की बात हो या महिला सुरक्षा की, या फिर डाटा लीक और पेपर लीक हो, इन सबका जबाव देना होगा।'

हमारे लिए हर चुनाव महत्वपूर्ण

आगामी विधानसभा और 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव पर उन्होंने कहा कि उनके लिए हर चुनाव महत्वपूर्ण है। लेकिन वर्तमान में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर वो ज्यादा गंभीर हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, 'मैं मानता हूं एक जनसेवक और राजनेता होने के नाते आप के लिए हर चुनाव महत्वपूर्ण होना चाहिए। मेरे लिए चाहे लोकसभा चुनाव हो या मेरे प्रदेश में कहीं उपचुनाव हो, चाहे पार्टी मुझे जहां भी भेजती हो प्रचार के लिए, हर चुनाव महत्व रखता है।'

हर चुनाव की अपनी स्थिति होती है

वहीं उन्होंने इस बात को खारिज करते हुए कहा कि कोई भी विधानसभा चुनाव या उपचुनाव लोकसभा चुनाव की दिशा तय नहीं कर सकता। हर चुनाव की अलग स्थिति होती है। हर चुनाव के अलग मुद्दे होते हैं। उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता के रूप में सब से महत्वपूर्ण पड़ाव वर्तमान में कर्नाटक के चुनाव हैं और उसके बाद चार राज्यों के चुनाव।’

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned