व‍िपक्ष को न‍िशाना बना रही सरकार, ईडी के लोगों ने रॉबर्ट वाड्रा के दफ्तर में तोड़फोड़ की- कपिल स‍िब्‍बल

व‍िपक्ष को न‍िशाना बना रही सरकार, ईडी के लोगों ने रॉबर्ट वाड्रा के दफ्तर में तोड़फोड़ की- कपिल स‍िब्‍बल

Prashant Kumar Jha | Publish: Dec, 08 2018 09:22:02 PM (IST) | Updated: Dec, 08 2018 09:22:03 PM (IST) राजनीति

गौरतलब है कि कांग्रेस मोदी सरकार पर आक्रमक है।

नई दिल्ली: राजनीति और शासन में ऐसा परिवर्तन नहीं होना चाहिए जो अपने पीछे बर्बादी का मंजर छोड़ जाए। आज जिस तरह से बदलाव को अंजाम दिया जा रहा है। उससे देश के सामने बर्बादी का खतरा ज्यादा है। केंद्र सरकार को आड़ हाथ लेते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने ये बात कही। मोदी सरकार की नीति और भाजपा की राजनीति शैली पर गंभीर सवाल उठाते हुए सिब्बल ने कहा कि कांग्रेस देश में उन्नति और विकास के लिए हर सकारात्मक बदलाव की मुखर पक्षधर है मगर ऐसा बदलाव मंजूर नहीं जो देश के संविधान और स्वायत्त संस्थाओं की स्वतंत्रता की धज्जियां उड़ा दे।

ईडी के लोगों ने दफ्तर में तोड़फोड़ की

इस दौरान कपिल सिब्बल ने मोदी सरकार पर चोट करते हुए कहा कि यह सरकार विपक्ष को निशाना बना रही है। आज रॉबर्ट वाड्रा के घर पर तलाशी ली जा रही है। लेकिन अभी तक वाड्रा के खिलाफ ना तो कोई शिकायत है और नहीं एफआईआर दर्ज है। ईडी के लोग वाड्रा के दफ्तरों में तोड़फोड़ कर रहे हैं। यह कैसा नियम कानून है।

 

सरकार वादे पूरे करने में विफल

दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में चुनावी राजनीति के बदलते आयाम' विषय पर बोलते हुए कपिल सिब्बल ने कहा कि कहा कि हमें ऐसा बदलाव नहीं चाहिए जो आवाज को दम घोट दें । सिब्बल ने पीएम पर हमला बोलते हुए कहा कि 2014 में उन्होंने जो वादे किए हैं वो आज पूरे होते नहीं दिख रहे । न्यूनतम सरकार, अधिकतम प्रशासन, विदेशों से कालाधन 100 दिनों में लाकर 15 लाख सबको देने से लेकर नौकरियों और विकास की झड़ी लगाने के बेहद सुहाने सपने दिखाए। मगर आज मोदी के दिखाए सपने और देश की हकीकत में कोई तालमेल नहीं है।

नोटबंदी ने गरीबों की कमाई खाक में मिला दी

नोटबंदी के फैसले पर हमला बोलते हुए सिब्बल ने सवाल उठाते हुए कहा कि एक क्षण में गरीबों की मेहनत की कमाई खाक में मिला देने और विकास में गिरावट वाला यह कदम कैसा बदलाव है। उन्होंने कहा कि देश को सवा दो लाख करोड़ रुपए की चपत लगाने वाला नोटबंदी का कदम ऐसा ही बदलाव है जो अपने पीछे बर्बादी छोड़ गया।

सिब्बल का भाजपा और आरएसएस पर हमला

राजनीति के स्तर में आ रही गिरावट पर कपिल सिब्बल ने कहा कि बेशक हम सबको इसे रोकने के लिए बदलना होगा। इसके लिए जरूरी है कि राजनीतिक पार्टी और सरकार के बीच का अंतर कायम रहे मगर यह दुखद है कि आज आरएसएस-भाजपा और सरकार में कोई अंतर नहीं रहा। सब एक हो गए हैं। शैक्षणिक संस्थाओं, राज्यपाल से लेकर स्वायत्त संस्थाओं में आरएसएस के पृष्ठभूमि के अलावा किसी को नियुक्त नहीं किया जाना इसका उदाहरण है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned