सीएम बनने के बाद कुमारस्वामी का पहला इंटरव्यू, कर्नाटक के किसान होंगे हमारी पहली प्राथमिकता

कुमारस्वामी ने कहा कि राज्य के किसानों को ये सुनिश्चित कर देना चाहता हूं कि मेरी सरकार में किसानों को किसी भी संकट का सामना नहीं करना पड़ेगा।

By: Kapil Tiwari

Published: 24 May 2018, 05:18 PM IST

बेंगलूरु। कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन के बाद एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व में सरकार का गठन हो गया है। बुधवार को एचडी कुमारस्वामी ने तमाम विपक्षी दलों के बड़े-बड़े नेताओं की मौजूदगी में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। साथ ही कांग्रेस के जी परमेश्वर ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली। हालांकि अभी कर्नाटक की नई सरकार को शुक्रवार को विधानसभा में बहुमत साबित करना है।

कुमारस्वामी ने बताई अपनी सरकार की प्राथमिकता
मुख्यमंत्री बनने के बाद कुमारस्वामी के सामने अपने और कांग्रेस पार्टी के द्वारा किए गए वादों को पूरा करने की चुनौती होगी। सीएम बन जाने के बाद एचडी कुमारस्वामी ने एक अंग्रेजी अखबार को इंटरव्यू दिया है, जिसमें उन्होंने कई अहम मुद्दों पर बात की है। इस इंटरव्यू में कुमारस्वामी ने बताया है कि सत्ता में आने के बाद अब उनकी सरकार की क्या प्राथमिकताएं होंगी। इस सवाल का जवाब देते हुए कुमारस्वामी ने बताया कि सीएम बन जाने के बाद उनकी पहली प्राथमिकता राज्य के कृषि क्षेत्र से संबंधित मुद्दे होंगे। उन्होंने कहा कि मैं राज्य के किसानों को ये सुनिश्चित कर देना चाहता हूं कि मेरी सरकार में किसानों को किसी भी संकट का सामना नहीं करना पड़ेगा, ऐसे में वो किसानों का विश्वास जीत सकेंगे।

मुद्दों को खींचने की बजाए, काम करना होगा- कुमारस्वामी
इंटरव्यू के दौरान उन्होंने आगे कहा कि हमें बुनियादी ढांचे के विकास पर भी ध्यान देना होगा। उन्होंने राजधानी बेंगलुरु के विकास पर विशेष रूप से बात की। इसके अलावा कुमारस्वामी ने इंटरव्यू के दौरान रोजगार उत्पादन, महिला सशक्तिकरण, स्वास्थ्य और शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करने की बात कही। कुमारस्वामी ने कहा कि हमें मुद्दों को खींचने की बजाए काम को तेज करने की जरूरत होगी।

बीएस येदियुरप्पा ने भी किसानों के लिए कर्जमाफी का किया था ऐलान
आपको बता दें कि किसानों को लेकर बीएस येदियुरप्पा ने भी कर्जमाफी का ऐलान कर ये दिखाया था कि उनकी सरकार में भी पहली प्राथमिकता किसानों के मुद्दे ही होंगे। बीएस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही किसानों की कर्जमाफी का ऐलान कर दिया था, लेकिन 24 घंटे के अंदर ही जब उनकी सरकार गिर गई तो उनका वो ऐलान ठंडे बस्ते में चला गया।

Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned