Jammu-Kashmir: Syed Ali Shah Geelani ने Hurriyat conference छोड़ा, जानें क्या बताई वजह?

  • अलगाववादी नेता Syed Ali Shah Geelaniने एलान किया कि वह अलगाववादी मंच All Party Hurriyat Conference ' से अलग हो रहे हैं
  • प्रेस को एक बयान में गिलानी ने कहा कि वह All Party Hurriyat Conference से खुद को पूरी तरह से दूर कर रहे हैं

By: Mohit sharma

Updated: 29 Jun 2020, 04:17 PM IST

नई दिल्ली। वरिष्ठ अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी ( Separatist leader Syed Ali Shah Geelani ) ने सोमवार को एलान किया कि वह अलगाववादी मंच 'ऑल पार्टी हुर्रियत कॉन्फ्रेंस' ( All Party Hurriyat Conference ) से अलग हो रहे हैं। प्रेस को एक बयान में गिलानी ने कहा कि वह ऑल पार्टी हुर्रियत कॉन्फ्रेंस से खुद को पूरी तरह से दूर कर रहे हैं। बयान में कहा गया कि उन्होंने हुर्रियत सदस्यों को एक विस्तृत पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि हुर्रियत कॉन्फ्रेंस ( Hurriyat Conference ) के भीतर वर्तमान हालात को देखते हुए, वह उससे खुद को पूरी तरह से अलग कर रहे है।"

India-China Dispute: Kashmir में सुरक्षाबलोें के लिए School खाली कराने के आदेश, घाटी में तनाव

 

aa.png

हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के सदस्यों को लिखे पत्र में गिलानी ने कहा है कि इसके बाद वह मंच के घटक सदस्यों के भविष्य के आचरण के बारे में किसी भी तरह से जवाबदेह नहीं होंगे। हुर्रियत कॉन्फ्रेंस का गठन 9 मार्च, 1993 को कश्मीर में अलगाववादी दलों के एकजुट राजनीतिक मंच के रूप में किया गया था।

Amit Shah की टिप्पणी पर बदले Manish Sisodia के सुर- Delhi में जुलाई तक नहीं होंगे साढ़े 5 लाख Corona Case

o.png

Coronavirus: Congress का आरोप- PM-Cares Fund में Chinese companies ने दिया चंदा

आपको बता दें कि फरवरी में जम्मू और कश्मीर के अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी की तबीयत बिगड़ने की अफवाहों को लेकर घाटी में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करते हुए अलर्ट जारी कर किया गया था। ऑल पार्टीज हुरियत कान्फ्रेंस ने मुजफ्फराबाद (पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर) से एक बयान जारी करते हुए कहा था कि अगर गिलानी अंतिम सांस लेते हैं तो सभी इमाम समेत लोग श्रीनगर स्थित ईदगाह में एकत्र हों।

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned