scriptKejriwal Meeting with Punjab AAP mla, Remote control govt in Punjab | ...तो क्या पंजाब की मान सरकार को 'रिमोट' से चलाएंगे अरविन्द केजरीवाल? | Patrika News

...तो क्या पंजाब की मान सरकार को 'रिमोट' से चलाएंगे अरविन्द केजरीवाल?

पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बन चुकी है। भगवंत मान की कैबिनेट भी शपथ ग्रहण कर चुकी है। इस बीच केजरीवाल पंजाब के AAP विधायकों के साथ बैठक कर उन्हें काम करने की सीख देने वाले हैं। इस बैठक को हाई कमान कल्चर से जोड़कर देखा जा रहा है। अब सवाल ये भी उठने लगे हैं कि क्या पंजाब सरकार का रीमोट केजरीवाल के पास है?

Updated: March 21, 2022 08:12:43 am

कांग्रेस के एण्ड हाई कमान कल्चर खूब सुनने को मिला है। यहाँ सभी बड़े निर्णय हाई कमान के निर्णय से ही लिए जाते हैं। अब ऐसा ही कुछ आम आदमी पार्टी में भी हावी होते दिखाई दे रहा है। पंजाब में मिली प्रचंड जीत के साथ ही यहाँ केजरीवाल विध्यायकों के साथ वर्चुअल मीट करने वाले हैं। इस मीटिंग में वो विधायकों को काम को लेकर सीख देंगे। अभी भगवंत मान मुख्यमंत्री बने ही हैं और विधायकों ने मंत्रिपद की शपथ भी ले ली । कैबिनेट बनने के अगले ही दिन केजरीवाल की मीटिंग को लेकर कई सवाल उठा रहे हैं कि क्या केजरीवाल ही पंजाब की सरकार को नियंत्रण में रखेंगे? क्या कई बड़े निर्णयों में मान खुद कोई कदम नहीं उठाया सकते हैं?
Kejriwal Meeting with Punjab AAP mla, Remote control govt in Punjab
Kejriwal Meeting with Punjab AAP mla, Remote control govt in Punjab
पंजाब में 117 में से 92 सीटें जीतकर आम आदमी पार्टी ने सरकार बना ली है। शनिवार को भगवंत मान के कैबिनेट ने शपथ ग्रहण किया। शपथ ग्रहण के अगले ही दिन यानि कि आज दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल पंजाब के नवनिर्वाचित विधायकों के साथ वर्चुअल बैठक करेंगे। कहा जा रहा है कि इस बैठक वो में विधायकों कको कैसे काम करना है उसकी सीख देंगे।
स्पष्ट है भगवंत मान के कैबिनेट के मंत्री भी केजरीवाल के इशारों पर चलने वाले हैं। खुद मुख्यमंत्री बनने के बाद भगवंत मान ने चार बड़े निर्णय लिए।

इसमें युवाओं के लिए 25 हजार की नौकरियों को मंजूरी, किसानों को मुआवजा, भ्रष्टाचार के खिलाफ हेल्पलाइन नंबर, 122 नेताओं का सुरक्षा कवर वापस लेना जैसे निर्णय शामिल है। इन निर्णयों में भी केजरीवाल की मंजूरी की संभावना जताई जा रही है। जिस तरह से शपथ ग्रहण के दौरान भगवंत मान ने तालियां बजवाई थीं। हर मौके पर मान केजरीवाल के ली आवभगत करने का एक अवसर नहीं छोड़ रहे हैं।
कैबिनेट के लिए मंत्रियों के चुनाव में भी केजरीवाल की भूमिका अहम मानी जा रही है। केजरीवाल ने इस बार दो विधायकों को छोड़कर बिल्कुल नए चेहरों को कैबिनेट में जगह दी।

इस निर्णय के पीछे पिछली सरकार के कड़वे अनुभव को उन्होंने अधिक महत्व दिया। केवल उन्हीं चेहरों को केजरीवाल ने महत्व दिया जो उनके नाम पर जीतकर आए हैं।

सभी बिंदुओं के देखें तो स्पष्ट है सरकार में भले ही भगवंत मान हो पर इसका रीमोट कंट्रोल केजरीवाल के हाथ में हैं।

यह भी पढ़ें

भगवंत मान आज लेंगे ऐतिहासिक फैसला, जानिए AAP ने शपथ समारोह में कितना पैसा किया खर्च

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद मामलाः सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई एक और याचिका, जानिए क्या की गई मांगऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में बनाया एक नया अरबपति, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमानसंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरबिहार में भीषण सड़क हादसा, पूर्णिया में ट्रक पलटने से 8 लोगों की मौतश्रीनगर पुलिस ने लश्कर के 2 आतंकवादियों को किया गिरफ्तार, भारी संख्या में हथियार बरामदGood News on Inflation: महंगाई पर चौकन्नी हुई मोदी सरकार, पहले बढ़ाई महंगाई, अब करेगी महंगाई से लड़ाईकोरोना वायरस का नहीं टला है खतरा, डेल्टा-ओमिक्रॉन के बाद अब दो नए सब वैरिएंट की दस्तक से बढ़ी चिंताNEET UG 2022: 3 घंटे से ज्यादा मिलेगा समय, टाइ ब्रेकिंग रूल और मार्किंग पैटर्न भी बदला, 14 विदेशी केंद्रों में भी होंगे Exam
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.