रफाल विवाद: HAL मुख्यालय के बाहर पहुंचे राहुल गांधी, कर्मचारी एसोसिएशन का मिलने से इनकार

रफाल विवाद: HAL मुख्यालय के बाहर पहुंचे राहुल गांधी, कर्मचारी एसोसिएशन का मिलने से इनकार

Saif Ur Rehman | Publish: Oct, 13 2018 02:28:43 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 02:28:44 PM (IST) राजनीति

रफाल डील विवाद को लेकर देश में राजनीति जारी है।

नई दिल्ली। रफाल लड़ाकू विमान सौदा विवाद को लेकर देश में सियासत उफान पर है। विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है। खासकर राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार पर निशाना साध रहे हैं। इस सिलसिले में आज राहुल गांधी बेंगलूरु में एकमात्र सरकारी विमान निर्माता कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) मुख्यालय के सामने प्रदर्शन करने वाले हैं। राहुल मिंस्क स्क्वायर पहुंच गए हैं । शाम 5 बजे तक धरना स्थल पर रहेंगे।

राहुल गांधी को कर्मचारी संघ का झटका

इस बीच राहुल गांधी से हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड कर्मचारी संघ ने राहुल गांधी को झटका देते हुए मिलने से इनकार कर दिया है। कर्मचारी एसोसिएशन ने कहा है कि रफाल सौदा न होने से दुख तो जरूर है लेकिन हम राहुल गांधी से नहीं मिलेंगे। एचएएल कर्मचारियों और अधिकारियों के साथ चर्चा का कार्यक्रम था लेकिन कर्मचारी संघ ने राहुल से मिलने से इनकार कर दिया। संघ के सदस्यों का कहना है कि वे सरकारी कर्मचारी हैं और किसी सरकारी कार्यक्रम में भाग नहीं ले सकते हैं। हालांकि, प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारियों का कहना है कि लगभग 200 एचएएल कर्मी मिंस्क स्क्वायर पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। कांग्रेस का कहना है कि प्रदर्शन के लिए पुलिस व अन्य संबंधित एजेंसियों से अनुमति ली जा चुकी है। बेंगलूरु में धरना देने की जानकारी देते हुए ट्वीट करते हुए लिखा, " एचएएल भारत की रणनीतिक संपत्ति है। भारत के एयरोस्पेस उद्योग का भविष्य रफाल को एचएएल से छीनकर और अनिल अंबानी को सौंपकर बर्बार कर दिया गया है।

रफाल डील: विवादों को दस्सू ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण, कहा- हमने खुद चुना भारतीय ऑफसेट पार्टनर

 

संघ ने जताई निराशा

कर्मचारी संघ भले ही एचएएल कर्मचारी संघ ने राहुल गांधी से मिलने से इनकार किया है लेकिन रफाल सौदे में ऑफसेट ठेका नहीं मिलने पर निराशा जताई है। एचएएल कर्मचारी संघ के महासचिव सूर्यदेवराय चंद्रशेखर ने कहा कि वे इस संदर्भ में संघ की ओर से प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर आग्रह करेंगे कि एमएमआरसीए सौदे (110 विमानों की खरीदारी) में एचएएल को नजरअंदाज नहीं किया जाए।

Ad Block is Banned