रुझानों में पिछड़े कांग्रेस के दिग्गज, राहुल समेत कई नेताओं का नहीं दिखा करिश्मा

  • लोकसभा चुनाव 2019 नतीजेः रुझान में कांग्रेस के दिग्गज पिछड़े
  • यूपी से लेकर एमपी और महाराष्ट्र हर जगह झटका
  • राहुल गांधी समेत कई दिग्गजों को बड़ा नुकसान

By: धीरज शर्मा

Updated: 23 May 2019, 12:39 PM IST

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजों के लिए शुरुआती रुझान आना शुरू हो गए हैं। इन शुरुआती रुझानों ने ही चौंकाना शुरू कर दिया है। सभी 542 सीटों के रुझान सामने आए हैं जिनमें एनडीए को जहां 310 सीटों पर बढ़त दिख रही तो वहीं यूपीए 125 सीटों पर आगे है। जबकि 107 सीटों पर अन्य को फायदा होता दिख रहा है। शुरुआती रुझान में सबसे ज्यादा चौंकाने वाले आंकड़े जो सामने आए हैं उनके मुताबिक कांग्रेस के कई दिग्गज पीछे चल रहे हैं। इनमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई बड़े नाम शामिल हैं।


अमेठी से राहुल को बड़ा झटका
उत्तर प्रदेश की ही लोकसभा सीट अमेठी जो कांग्रेस का गढ़ मानी जाती है इस बार उनके हाथ से खिसकती दिख रही है। राहुल गांधी यहां भाजपा की उम्मीदवार स्मृति ईरानी से करीब 6 हजार वोटों से पीछे चल रहे हैं। आपको बता दें कि पिछली बार भी राहुल गांधी और स्मृति ईरानी के बीच मुकाबला टक्कर का रहा था। राहुल गांधी 1 लाख 60 हजार वोटों से जीत दर्ज करने में कामयाब हुए थे।

शशि थरूर तिरुवनंतपुरम से पीछे
कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शुमार शशि थरूर के लिए भी शुरुआती रुझानों में अच्छी खबर नहीं आई है। शशि थरूर इस बार केरल के तिरुवनंतपुरम से चुनावी मैदान में हैं। लेकिन शुरुआती ट्रेंड में वो अपने प्रतिद्वंदी और भाजपा उम्मीदवार कुम्मानम राजशेखरन से पीछे चल रहे हैं। राजशेखरन ने वोटों की गिनती शुरू होने से पहले ही अपनी जीत का दावा किया था। भगवान के आगे माथा टेकने के बाद उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में साफ कहा था कि इस बार केरल की जनता मोदी के साथ है।

गुना से ज्योतिरादित्य भी पिछड़े
मध्य प्रदेश की गुना लोकसभा सीट से ताल ठोंक रहे कांग्रेस के दिग्गज नेता और उपमुख्यमंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया करीब पांच हजार वोटों से भी पीछे चल रहे हैं। यहां उनका मुकाबला भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार डॉ. केपी यादव से है। खास बात यह है कि डॉ. केपी यादव कभी सिंधिया के ही करीबी थे। गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट पर लोकसभा चुनाव के छठवें चरण में 12 मई को मतदान हुआ था, यहां 70.02 फीसदी मतदान हुआ।

Lok Sabha Election 2019: खंडित आया जनादेश तो राष्ट्रपति को तुरंत सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे विपक्षी दल

मिलिंद देवड़ा को नुकसान
महाराष्ट्र की साउथ मुंबई सीट से अपना भाग्य आजमा रहे कांग्रेस के कद्दावर नेता मिलिंद देवड़ा भी अब तक के रुझान में पीछे चल रहे हैं। दरअसल दक्षिण मुंबई सीट से 13 उम्मीद चुनावी मैदान में हैं। मुख्य मुकाबला शिवसेना के अरविंद सावंत और कांग्रेस के मिलिंद देवड़ा के बीच माना जा रहा है। लेकिन शुरुआती ट्रेंड कांग्रेस के लिए अच्छे साबित होते नहीं दिख रहे हैं। फिलहाल मिलिंद देवड़ा यहां 16 हजार वोटों से पीछे चल रहे हैं। खास बात यह है कि मिलिंद के लिए खुद कारोबारी मुकेश अंबानी ने प्रचार किया था।

भूपेंद्र सिंह हुड्डा को भी बढ़त नहीं
हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में शुमार भूपेंद्र सिंह हुड्डा भी इस लोकसभा चुनाव में सोनीपत से किस्मत आजमा रहे हैं। खास बात यह है कि अब तक आए रुझानों में जनता का झुकाव उनकी तरफ भी दिखाई नहीं दे रहा है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा की टक्कर में यहां भाजपा के रमेश कौशिक से है। जबकि ओम प्रकाश चौटाला के पोते दिग्विजय चौटाला ने इनेलो से अलग होकर जननायक पार्टी से ताल ठोंकी है।

धौरहरा से जितिन प्रसाद भी पिछड़े
कांग्रेस के एक और कद्दावर नेता जितिन प्रसाद भी मुकाबले में अब तक पीछे चल रहे हैं। धौरहरा सीट पर कांग्रेस से जितिन प्रसाद, भाजपा से रेखा वर्मा और बसपा के अरसद अहमद सिद्दीकी के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। राहुल गांधी के करीबी माने जाने वाले जितिन प्रसाद ने 2009 में धौरहरा सीट से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की थी।

अगर नहीं जीते ये दल तो संसद से हो जाएंगे बाहर और खतरे में पड़ जाएंगी मान्‍यता

राज बब्बर भी नहीं दिखा पाए दम
उत्तर प्रदेश में कांग्रेस प्रभारी राज बब्बर भी शुरुआती रुझानों में कुछ खास करिश्मा नहीं दिखा पाए हैं। फतेहपुर सीकरी से राज बब्बर भी पीछे चल रहे हैं। आपको बता दें कि राज बब्बर के लिए प्रचार करने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी खुद पहुंचे थे। हालांक राहुल गांधी खुद अमेठी सीट से पिछड़ रहे हैं।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned