राज्यसभा में विपक्ष के नेता के रूप में आजाद की जगह लेगा यह दिग्गज नेता

  • 15 फरवरी को समाप्त हो रहा राज्यसभा सदस्य गुलाम नबी आजाद का सदस्य
  • आजाद की जगह भरने के लिए कांग्रेस में लंबे समय तक चला मंथन

By: Mohit sharma

Updated: 12 Feb 2021, 03:35 PM IST

नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद मल्लिकार्जुन खडग़े ( Congress MP Mallikarjun Kharge ) राज्यसभा में विपक्ष के नेता के रूप में गुलाम नबी आजाद ( Ghulam Nabi Azad ) की जगह लेंगे। सूत्रों ने यह जानकारी दी। कांग्रेस के सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस पार्लियामेंट्री पार्टी की अध्यक्ष के रूप में सोनिया गांधी ( Sonia Gandhi )
ने खडग़े को विपक्ष का नेता नियुक्त करने के लिए पत्र लिखा है। हालांकि, उच्च सदन कार्यालय के चेयरमैन की ओर से अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

सोशल मीडिया पर धूम मचा रहे राकेश टिकैत, 26 जनवरी से अब तक कितनी बढ़ गई फॉलोअर्स की संख्या?

लोकसभा में कांग्रेस के नेता रह चुके मल्लिकार्जुन खडग़े

इस पद के लिए जिनका नाम सबसे आगे चल रहा है उनमें आनंद शर्मा, जो कि पार्टी के वर्तमान उप नेता हैं, पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश, पूर्व केंद्रीय मंत्री मल्लिकार्जुन खडग़े, जो पार्टी के दलित चेहरा हैं और लोकसभा में कांग्रेस के नेता रह चुके हैं, के नाम शामिल हैं। सूत्रों का कहना है कि दलित होने के नाते और राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण प्रदेश कर्नाटक से आने वाले खडग़े पार्टी की पसंद हो सकते हैं, क्योंकि आनंद शर्मा का कार्यकाल भी जल्द ही समाप्त होने वाला है। हालांकि, पार्टी में कुछ लोग कहते हैं कि शर्मा, जो कि एक मुखर सदस्य हैं और हिमाचल प्रदेश से उत्तर भारतीय चेहरा हैं, इसलिए उन्हें यह पद दिया जा सकता है, क्योंकि पार्टी नेतृत्व पत्र लिखने वाले जी23 गुट के साथ तालमेल चाहता है।

कांग्रेस के आरोप पर Amit Shah ने कहा, 'मैं टैगोर की कुर्सी पर नहीं बैठा' नेहरू, राजीव बैठे

मनमोहन सरकार में पूर्व केंद्रीय मंत्री रहे खडग़े

मल्लिकार्जुन खडग़े पिछली लोकसभा में कांग्रेस के नेता थे। मनमोहन सरकार में पूर्व केंद्रीय मंत्री रहे खडग़े का राजनीति में लंबा करियर है और वह दलित समुदाय से हैं और कर्नाटक में कांग्रेस के शासन के दौरान मंत्री थे। सूत्रों का कहना है कि दलित होने के नाते और राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण राज्य कर्नाटक से आने वाले, खडग़े पार्टी में शीर्ष विकल्प हो सकते हैं। वह एक हिंदी भाषी नेता भी हैं, जो कांग्रेस को हिंदी भाषी क्षेत्रों में सहज बनाएगा। वह पार्टी नेतृत्व के करीब माने जाते हैं और राहुल गांधी और सोनिया गांधी के साथ उनका अच्छा तालमेल है। नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद 15 फरवरी को राज्यसभा से रिटायर हो रहे हैं।

हरियाणा: राकेश टिकैत बोले- 4 लाख नहीं अब 40 लाख ट्रैक्टरों की रैली देखेगी सरकार

कर्नाटक से आने वाले खडग़े पार्टी की पसंद

आपको बता दें कि इस पद के लिए जिनका नाम सबसे आगे चल रहा था उनमें आनंद शर्मा, जो कि पार्टी के वर्तमान उप नेता हैं व पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश के नाम शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार दलित होने के नाते और राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण प्रदेश कर्नाटक से आने वाले खडग़े पार्टी की पसंद किया गया है। क्योंकि आनंद शर्मा का कार्यकाल भी जल्द ही समाप्त होने वाला है।

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned