भवानीपुर से चुनाव लड़ना मेरा भाग्य है: ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि भवानीपुर में होने वाले उपचुनावों में उतना जीतना हर हालत में जरूरी है, क्योंकि ऐसा होने पर ही वह CAA, NRC तथा भाजपा की अन्य दमनकारी नीतियों के खिलाफ लड़ सकेंगी।

By: सुनील शर्मा

Published: 23 Sep 2021, 10:21 AM IST

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि भवानीपुर से चुनाव लड़ना उनका भाग्य है तथा भाजपा बाहरी उम्मीदवारों को यहां लाकर 30 सितंबर को होने वाले उपचुनावों में अव्यवस्था पैदा करना चाहती है।

ममता ने कहा कि भवानीपुर में होने वाले उपचुनावों में उतना जीतना हर हालत में जरूरी है, क्योंकि ऐसा होने पर ही वह CAA, NRC तथा भाजपा की अन्य दमनकारी नीतियों के खिलाफ लड़ सकेंगी। उन्होंने भाजपा पर विभाजनकारी नीतियां अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह राक्षसी गुण वाली भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ तब तक लड़ती रहेंगी जब तक भाजपा को केन्द्र सरकार से हटा नहीं दिया जाता।

यह भी पढ़ें : PM मोदी ने ग्लोबल वैक्सीन शिखर सम्‍मेलन में हिस्सा लिया, कहा- भारत विश्व के साथ एकजुट होकर खड़ा

ममता बनर्जी ने कहा कि भवानीपुर उपचुनाव जीतने के बाद तृणमूल कांग्रेस भाजपा के विरूद्ध लड़ी जा रही इस लड़ाई को देश के अन्य राज्यों में भी ले जाएंगी और स्वामी विवेकानंद के आदर्शों पर चलते हुए भाजपा को रोकने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में जब से भाजपा केन्द्र में आई है, तब मैं इस पार्टी की अनीतियों के खिलाफ लड़ रही हूं और ऐसा तब तक करती रहूंगी जब तक कि भाजपा को सत्ता से बाहर नहीं निकाल फेका जाता। जो लोग देश को सही तरह से नहीं चला पा रहे हैं वे दूसरे राज्यों से लोगों को लाकर उपचुनावों में बाधा फैलाने का कार्य कर रहे हैं। हम भाजपा की विभाजनकारी और अनीतियुक्त राजनीति को रोकने के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे।

यह भी पढ़ें : जल्द ही 1 अरब करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन लक्ष्य पाने की दिशा में भारत, 83 करोड़ पूरे

केन्द्रीय पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी पर हमला करते हुए ममता ने कहा कि एक ऐसा मंत्री जो पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर लगाम लगाने में असफल हो गया, वो यहां पर प्रचार करने आ रहा है। उन्हें पहले पेट्रोल-डीजल तथा गैस की कीमतों को कम करने का काम करना चाहिए, उसके बाद ही चुनाव प्रचार में आना चाहिए।

भाजपा पर आरोप लगाते हुए ममता ने कहा कि जिन राज्यों में भाजपा सत्ता में है, वहां पर तानाशाही पूर्ण तरीके से काम किया जा रहा है। विपक्षी दलों को राजनीतिक कार्यक्रम आयोजित करने से रोका जा रहा है।

यह भी पढ़ें : RBI का बड़ा निर्णय, दिवालिया हो चुके बैंकों के ग्राहकों को मिलेगी 5 लाख रुपए तक की राशि

उल्लेखनीय है कि ममता बनर्जी भवानीपुर से वर्ष 2011 तथा 2016 में दो बार विधानसभा चुनाव जीत चुकी हैं परन्तु इस बार उन्होंने नंदीग्राम से चुनाव लड़ा और चुनाव हार गई। हालांकि तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो होने के नाते वह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनी परन्तु इस पद पर बने रहने के लिए उनका भवानीपुर सीट पर होने वाले विधायक उपचुनाव का जीतना अनिवार्य है।

BJP
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned