ममता विधायक रत्‍ना घोष के बिगड़े बोल, कहा- 'सुरक्षा बलों ने परेशान किया तो झाड़ू लेकर भगाएंगे'

ममता विधायक रत्‍ना घोष के बिगड़े बोल, कहा- 'सुरक्षा बलों ने परेशान किया तो झाड़ू लेकर भगाएंगे'

Dhirendra Kumar Mishra | Publish: Apr, 17 2019 11:35:58 AM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 11:35:59 AM (IST) राजनीति

  • चकदाहा से टीएमसी महिला विधायक ने सुरक्षा बलों की तैनाती को लेकर दिया बड़ा बयान।
  • 2016 वाली घटनाएं फिर हुईं तो टीएमसी के कार्यकर्ता सुरक्षा बलों को झाड़ू लेकर भगाएंगे।
  • विधायक रत्‍ना घोषण ने बताया का कहना है कि युद्ध में जीत सबसे ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण होता है।

नई दिल्‍ली। लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान नेताओं का विवादित बयान थमने का नाम नहीं ले रहा है। विवादित बयान देने वाले नेताओं की सूची में अब टीएमसी नेता रत्‍ना घोष का नाम भी जुड़ गया है। चकदाहा से टीएमसी विधायक रत्ना ने कहा है कि अगर युद्ध जीतना चाहते हैं, तो जीतने के लिए कोई भी तरीका उचित या अनुचित, लोकतांत्रिक या अलोकतांत्रिक नहीं होता। आप युद्ध किसी भी तरीके से जीत सकते हैं। ऐसा इसएिल कि युद्ध में जीत अहम होता है न कि जीत के लिए अपनाया गया तरीका।

निर्मला सीतारमण: पूर्व सैन्‍य अधिकारियों के इनकार से राष्‍ट्रपति को लिखी चिट्ठी ...

 

2016 की घटना को भूले नहीं है कार्यकर्ता

चकदाहा से विधायक रत्‍ना घोष कार यहीं नहीं रूकीं। उन्‍होंने कहा कि मैंने साल 2016 के चुनावों में देखा है कि कैसे केंद्रीय बलों ने टीएमसी कार्यकर्ताओं को बड़े पैमाने पर पीटा था। इस बात के विरोध में तीन साल पहले भी सड़कों पर खूनखराबा हुआ था।

VIDEO: चंद्रबाबू नायडू ने भाजपा को घेरा, 50% वीवीपैट वोटों की गिनती से बढ़ेगी EC की विश्‍वसनीयता

सुरक्षा बलों को दी चेतावनी

उन्‍होंने चुनाव ड्यूटी पर तैनात सुरक्षा बलों के जवानों को चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि इस बार लोकसभा चुनाव पहले से ज्‍यादा चुनौतीपूर्ण है। इस बात से टीएमसी कार्यकर्ता डरने वाले नहीं हैं। टीएमसी कार्यकर्ता हर बूथ पर जाएंगे और सुरक्षा बलों की परवाह नहीं करेंगे। अगर सुरक्षा बलों के जवानों ने कार्यकर्ताओं के साथ 2016 वाला रुख अपनाया तो टीएमसी महिला मोर्चा के सदस्यों से मैं अपील करूंगी कि वो झाड़ू उठाएं और पश्चिम बंगाल से केंद्रीय बलों को भगाने का काम करें।

 

आज गुजरात दौरे पर हैं प्रियंका गांधी, जनसभा से पहले अंबाजी मंदिर में करेंगी पूजा अर्चना

सुरक्षा बलों की तैनाती पर जोर

बता दें कि पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव को लेकर विरोधी पार्टियों के बीच तनातनी बहुत ज्‍यादा है। इस बात को देखते हुए चुनाव आयोग काफी सख्‍ती से काम ले रहा है। किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए पश्चिम बंगाल में सात चरणों में चुनाव कराए जा रहे हैं। ताकि सुरक्षा बलों की चुनाव के दौरान ज्‍यादा से ज्‍यादा तैनाती संभव हो सके।

 

Indian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..
Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned