पार्टी को बचाने के लिए महबूबा की बड़ी चाल, इन सभी लोगों ने दिया इस्तीफा

पीडीपी को बचाने के लिए महबूबा ने नई चाल चली है।

By: Kaushlendra Pathak

Updated: 24 Jul 2018, 12:10 PM IST

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में सरकार गिरने के बाद वहां की सियासी हालत काफी बदल चुकी है। कयास लगाया जा रहा है था कि घाटी में जल्द ही नई सरकार की गठन हो जाएगी। लेकिन, अभी तक राज्यपाल शासन लगा हुआ है। वहीं, सरकार गिरने के बाद पीडीपी में फूट पड़नी शुरू हो गई। चर्चा यह था कई नेता पार्टी से अलग होकर नया मोर्चा बनाने की तैयारी कर रहे हैं। वहीं, पार्टी को बचाने के लिए अब महबूबा मुफ्ती ने नई चाल चली है।

महबूबा की नई चाल

दरअसल, महबूबा के इशारे पर उनके मामा सरताज मदनी समेत पार्टी के सभी पदाधिकारियों ने पद से इस्तीफा दे दिया है। पार्टी प्रवक्ता रफी मीर ने इस बात की पुष्टि की है। मदनी ने कहा है कि उन्होंने यह कदम पार्टी के व्यापक हित में उठाया है। इस मुद्दे पर पार्टी के कई विधायक बागी तेवर अपनाए हुए हैं। गौरतलब है कि पीडीपी के बागी विधायक और पूर्व मंत्री इमरान रजा अंसारी व उनके चाचा आबिद अंसारी ने खुले तौर पर महबूबा मुफ्ती पर भाई-भतीजावाद का आरोप लगाया था। साथ ही पार्टी अध्यक्ष के फैसलों पर सवाल उठाते हुए कहा था कि पार्टी अध्यक्ष ने अपने को चारो ओर से रिश्तेदारों व मित्रों से घेर रखा है। इस आरोप के लगभग तीन सप्ताह बाद सरताज मदनी ने इस्तीफा दिया है। उन्होंने कहा कि वे पार्टी अध्यक्ष को इस्तीफा सौंप चुके हैं।

बागी विधायकों ने दी थी सरकार बनाने की धमकी

आपको बता दें कि भाजपा के समर्थन वापसी से सरकार गिर जाने के बाद पीडीपी में विद्रोह की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। पांच विधायकों व दो एमएलसी ने खुलेआम महबूबा का विरोध किया था। पूर्व मंत्री व विधायक अब्दुल मजीद पाडर ने तो यहां तक दावा किया था कि जल्द ही रियासत में नई सरकार अस्तित्व में आएगी। इसके लिए 51 विधायकों का समर्थन है। पार्टी विधायकों के बागी तेवर अपनाने के बाद सक्रिय हुईं महबूबा ने पार्टी में डैमेज कंट्रोल की बागडोर खुद संभालते हुए उत्तरी, दक्षिणी व मध्य कश्मीर के नेताओं व प्रमुख पार्टी कार्यकर्ताओं से अलग-अलग बैठकें कर उनकी बातें सुनीं। तीनों क्षेत्रों की बैठकें पूरी होने के बाद सरताज मदनी ने इस्तीफा दिया। कयास लगाया जा रहा है कि महबूबा ने पार्टी को टूटने से बचाने तथा बागी विधायकों के पार्टी में बने रहने के लिए यह कदम उठाया है।

BJP
Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned