मिलिंद देवड़ा के इस्तीफे पर रार, निरुपम बोले- यह इस्तीफा है या ऊपर चढ़ने की सीढ़ी ?

कांग्रेस में इस्तीफों का जारी है सिलसिला

अब मुंबई में मिलिंद देवड़ा ( Milind deora ) ने अपने पद से दिया त्यागपत्र

महाराष्ट्र में इसी साल विधानसभा चुनाव

By: Prashant Jha

Updated: 07 Jul 2019, 10:37 PM IST

नई दिल्ली। लोकसभा चुनावों में करारी हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफों की झड़ी लगी हुई है। पार्टी के नेता एक के बाद एक अपना इस्तीफा सौंप रहे हैं। अब मुंबई कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा ( Milind deora ) ने इस्तीफा दे दिया है। 26 जून को मिलिंद देवड़ा ने राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) से मुलाकात के बाद इस्तीफा देने का फैसला लिया था।

निरुपम का देवड़ा पर तंज

मिलिंद देवड़ा के इस्तीफे पर कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने निशाना साधा है। निरुपम ने कहा कि ये इस्तीफा है या फिर ऊपर चढ़ने की सीढ़ी पार्टी को ऐसे 'कर्मठ' लोगों से सावधान रहने की जरूरत है।

 

निरुपम ने ट्विटर पर लिखा कि 'इस्तीफा में त्याग की भावना अंतर्निहित होती है। यहां तो दूसरे क्षण 'नेशनल' लेवल का पद मांगा जा रहा है। यह इस्तीफा है या ऊपर चढ़ने की सीढ़ी? पार्टी को ऐसे 'कर्मठ' लोगों से सावधान रहना चाहिए'।

राष्ट्रीय स्तर पर बड़ी जिम्मेदारी मिलने की संभावना

मिलिंद देवड़ा ने अगामी विधानसभा चुनाव को लेकर तीन सदस्यीय कमेटी बनाने के सुझाव भी दिए हैं। देवड़ा के मुताबिक ये कमेटी राज्य में कांग्रेस की अगुवाई करेगी।

बताया जा रहा है कि मिलिंद देवड़ा को राष्ट्रीय स्तर पर बड़ी जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। हालांकि इस बारे में अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। दरअसल इसी साल महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव है। ऐसे में कांग्रेस के सामने बड़ी चुनौती है। महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना मजबूत स्थिति में है।

ये भी पढ़ें: दिल्ली: राजनीति में उतरीं मशहूर डांसर सपना चौधरी, भाजपा में हुईं शामिल

राहुल गांधी ने दिया त्यागपत्र

बता दें कि राहुल गांधी ने 3 जुलाई को अपने अध्यक्ष पद से इस्तीफा देते हुए चार पन्नों का ट्विटर पर पत्र लिखा था। राहुल गांधी ने पत्र में लिखा कि कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर 2019 में मिली हार के लिए मैं जिम्मेदार हूं। हमारी पार्टी के भविष्य के लिए जवाबदेही जरूरी है। पत्र में राहुल गांधी ने कहा था कि अध्यक्ष पद को चुनने के लिए एक समूह गठित किया जाए और जल्द से जल्द इस पद को भरा जाए। राहुल गांधी ने आगे लिखा कि कांग्रेस पार्टी के लिए काम करना उनके लिए गर्व की बात है। कांग्रेस पार्टी का इतिहास बहुत गौरवशाली रहा है।

Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned