मिशन 2019: मायावती को PM बनाने के लिए बसपाई चलाएंगे अभियान, कार्यकर्ताओं को बताएंगे उपलब्धियां

मिशन 2019: मायावती को PM बनाने के लिए  बसपाई चलाएंगे अभियान, कार्यकर्ताओं को बताएंगे उपलब्धियां

Dhirendra Kumar Mishra | Publish: Sep, 03 2018 11:00:35 AM (IST) राजनीति

इसके पहले भी मंडलीय कार्यकर्ता सम्मेलन में यह मामला जोर-शोर से उठ चुका है।

नई दिल्‍ली। बसपा प्रमुख बहन मायावती अपने राजनीतिक मिशनों को हासिल करने के लिए साइलेंट किलर की तरह काम करती हैं। इस बार भी उसी अंदाज में सियासी मिशनों को हासिल करने के लिए अभीसे काम शुरू कर दिया है। इस मिशन के तहत बसपा के कार्यकर्ता बहन जी को 2019 में पीएम बनाने के लिए देशव्‍यापी अभियान चलाएंगे। शहर से लेकर गांव तक बसपा के कार्यकर्ताओं को उनकी उपलब्धियों के बारे में बताएंगे। यह पहला मौका नहीं है जब बहन जी को पीएम बनाने की बात उठी हो। इसके पहले भी जुलाई में लखनऊ व कानपुर के मंडलीय कार्यकर्ता सम्मेलन में यह मामला जोर-शोर से उठ चुका है।

ऑडियो कैसेट जारी
लोगों में बहन जी की छवि को लोकप्रिय बनाने के लिए पार्टी की ओर से एक ऑडियो कैसेट जारी किया गया है। इस कैसेट में कहा गया है कि हाथी का बटन दबाएंगे बहन कुमारी मायावती को पीएम बनाएंगे, ऐसा फिर नहीं मिलेगा मौका...। देश भर के बसपाई आजकल यही गीत गुनगुना रहे हैं। कुल मिलाकर इस ऑडियो कैसेट का मकसद मायावती को पीएम बनाने के लिए लोगों के बीच उन्‍हें लोकप्रिय बनाना है।
सबको बताएंगे उपलब्धि
बसपा प्रमुख को पीएम बनाने के लिए पार्टी के कार्यकर्ताओं को लोकसभा चुनाव की तैयारियों में अभी जुट जाने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए गीतों वाला आडियो कैसेट भी तैयार कराया गया है। बसपा कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया गया है कि वह विधानसभा बूथवार सम्मेलनों का दौर शुरू करें। इसमें सभी को कैसेट को सुनाएं और मायावती के मुख्यमंत्री रहते हुए जो भी काम किए गए हैं, उसको लोगों को बताएं। इसके साथ ही केंद्र व राज्य सरकार की खामियों को बताया जाए। इसमें खासकर दलित हितों की होने वाली अनदेखी को जरूर बताया जाए।

बसपा कार्यकर्ता गठबंधन को लेकर उत्‍साहित
बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती भाजपा के खिलाफ महागठबंधन को मजबूती देने में जुटी हैं। राजस्थान, मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर वह कांग्रेस व अन्य पार्टियों के साथ बेहतर गठबंधन की संभावनाएं तलाश रही हैं। यूपी में लोकसभा उप चुनाव में सपा के साथ गठबंधन के बेहतर परिणाम सभी ने देखे हैं। मायावती कह चुकी हैं कि भाजपा को रोकने के लिए सीटों के बेहतर बंटवारे पर वह गठबंधन करेंगी। इसीलिए पार्टी कार्यकर्ता भविष्य में होने वाले गठबंधन को लेकर खासे उत्साहित हैं।

Ad Block is Banned