हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस से केंद्र सरकार हैरान, सख्त कानून लाने के लिए तैयार

  • सरकार दुष्कर्म जैसे जघन्य अपराध को रोकने के लिए प्रतिबद्ध।
  • निर्भया-कठुआ-हैदराबाद जैसे मामलों ने हिला दिया पूरे देश को।
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- सख्त कानून के लिए बदलाव को तैयार।

Amit Kumar Bajpai

December, 0308:33 AM

नई दिल्ली। पहले निर्भया, फिर कठुआ और अब हैदराबाद में पशु चिकित्सक के साथ हुए गैंगरेप-मर्डर जैसे जघन्य अपराध को लेकर केंद्र सरकार सख्त रवैया एख्तियार करने वाली है। 27 वर्षीय पशु चिकित्सक से सामूहिक दुष्कर्म और फिर हत्या के मामले की निंदा करते हुए केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि सरकार भविष्य में ऐसे अपराधों को रोकने के लिए सख्त कानून बनाने के लिए तैयार है।

BIG NEWS: हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर के रेप-मर्डर में परिवारवालों का बड़ा खुलासा.. कॉल कर यह कह रही थी बेटी..

सदन के उप नेता के तौर पर रक्षा मंत्री ने कहा कि कोई भी कार्य उतना अमानवीय नहीं हो सकता है, जितना कि हैदराबाद में हुई यह घटना है। उन्होंने कहा, "पूरा देश आहत हुआ है। सभी सांसदों ने इस घटना की निंदा की है और अपराध में शामिल अभियुक्तों को कठोर सजा देने की मांग की है।"

सिंह ने कहा, "निर्भया की घटना के बाद एक सख्त कानून बनाया गया और लोगों ने सोचा कि इस तरह की घटनाओं की संख्या घट जाएगी। लेकिन, ऐसी वीभत्स हरकतें लगातार हो रही हैं।"

राहुल गांधी के ट्वीट के बाद वेटरनरी डॉक्टर रेप-मर्डर केस में सबसे बड़ा खुलासा... गृहमंत्री ने भी कही बड़ी बात..

उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से इस मुद्दे पर विस्तृत चर्चा करने की बात कही। उन्होंने कहा, "सदन की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए सरकार सख्त कानून बनाने के लिए प्रावधानों में आवश्यक बदलाव करने के लिए तैयार है।"

शून्यकाल के दौरान सदन में विपक्ष द्वारा दूसरी बार मामला उठाए जाने के बाद मंत्री ने इस मुद्दे पर बात की। विभिन्न नेताओं ने ऐसे अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए हैदराबाद दुष्कर्म और हत्या मामले में शामिल दोषियों को कड़ी सजा देने के साथ-साथ एक सख्त कानून बनाने की मांग की।

बड़ी खबरः इस गंभीर मामले की जानकारी मिलते ही एक्शन में आए राहुल गांधी.. आनन-फानन में कह दी यह बात..

इससे पहले कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी दलों के नेताओं ने इस सामूहिक दुष्कर्म की घटना का मुद्दा उठाया और फिर सदन के अध्यक्ष ने उन्हें शून्यकाल मामले को उठाने की सलाह

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned