मोतीलाल वोरा हो सकते हैं कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष, इसके पीछे बड़ी वजह

मोतीलाल वोरा हो सकते हैं कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष, इसके पीछे बड़ी वजह

Dhiraj Kumar Sharma | Updated: 03 Jul 2019, 09:05:18 PM (IST) राजनीति

  • Motilal vora would be Interim Congress President
  • कांग्रेस पार्टी के संविधान के मुताबिक वरिष्ठतम सदस्य बनता है अंतरिम अध्यक्ष

नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ( Congress President Rahul Gandhi ) ने बुधवार को अपने इस्तीफे को लेकर एक पत्र लिखा है। चार पन्नों के इस खत को उन्होंने ट्विटर के जरिये सार्वजनिक भी कर दिया। राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद एक बार फिर पार्टी अध्यक्ष को लेकर चर्चाएं शुरू हो गई हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा ( congress leader motilal vora ) का नाम इस चर्चा में आगे चल रहा है। मोतीलाल वोरा का नाम सबसे आगे क्यों है इसके पीछे भी बड़ी वजह है। आईए जानते हैं...


जैसे ही राहुल गांधी के इस्तीफे की खबर सामने आई तो मीडिया रिपोर्ट्स में तुरंत मोतीलाल वोरा को अंतरिम अध्यक्ष बनने की खबरें चलने लगीं। धीरे-धीरे ये खबर जोर पकड़ने लगी लेकिन थोड़ी देर में ही इस खबर को लेकर मोतीलाल वोरा का बयान भी सामने आ गया।

राहुल गांधी ने चार पेज की चिट्ठी लिख कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़ा, कहा- अब कड़े फैसले लेने का वक्त

 

खुद वोरा ने खारिज किया
राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद मोतीलाल वोरा को अंतरिम अध्यक्ष बनाए जाने की खबर को खुद मोतीलाल वोरा ने ही खारिज कर दिया। वोरा ने कहा कि ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है और ना ही मुझे इस तरह के किसी निर्णय की जानकारी है।


आपको बता दें कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाने की दौड़ में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम सुशील कुमार शिंदे शामिल हैं।

 

Congress

किसानों को मोदी सरकार का तोहफा, खरीफ फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाया

ये कहता है कांग्रेस पार्टी का संविधान
मोतीलाल वोरा का नाम सबसे आगे होने की सबसे बड़ी वजह है कांग्रेस पार्टी का संविधान। दरअसल कांग्रेस पार्टी के संविधान के मुताबिक कांग्रेस पार्टी का सबसे वरिष्ठतम व्यक्ति अंतरिम अध्यक्ष की भूमिका निभा सकता है। ऐसे में मौजूदा समय में मोतीलाल वोरा कांग्रेस के वरिष्ठतम नेताओं में से एक हैं।

..तो वोरा बुलाएंगे बैठक
अंतरिम अध्यक्ष बनने के बाद मोतीलाल वोरा कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक बुला सकते हैं। यही नहीं इस बैठक में अगले अध्यक्ष को लेकर चुनाव हो सकता है और पार्टी अपना नया अध्यक्ष चुन सकती है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned