कश्मीर में असहिष्णुता में बढ़ोतरी के लिए सईद जिम्मेदार : उमर

उन्होंने कहा कि भाजपा के साथ गठबंधन करके सईद की पीडीपी ने सांप्रदायिक समूहों को आक्रामकता से अपना एजेंडा लागू करने को उत्साहित किया है

By: जमील खान

Published: 05 Dec 2015, 11:26 PM IST

श्रीनगर। जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने राज्य में बढ़ रही असहिष्णुता की घटनाओं के लिए शनिवार को मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने सत्तारूढ़ पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी)-भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन पर सांप्रदायिक घटनाओं व क्षेत्रीय विभाजन का आरोप लगाया।

उमर अब्दुल्ला ने यहां नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के संस्थापक व अपने दादा शेख अब्दुल्ला को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित एक समारोह के दौरान कहा, राज्य में सरकार बनाने के लिए राजनीतिक मतभेदों के बावजूद हमने उन्हें बिना शर्त समर्थन की पेशकश की थी। लेकिन गठबंधन के लिए उन्होंने एक भगवा दल का चुनाव किया।

उन्होंने कहा कि भाजपा के साथ गठबंधन करके सईद की पीडीपी ने सांप्रदायिक समूहों को आक्रामकता से अपना एजेंडा लागू करने को उत्साहित किया है। सईद ने भाजपा के सत्ता में आने का भय दिखाकर लोगों से वोट लिया, लेकिन बाद में उन्होंने उसी पार्टी से हाथ मिलाकर लोगों के साथ धोखा किया।

अब्दुल्ला ने दावा किया कि वर्तमान शासन में विभिन्न प्रांतों में क्षेत्रीय विभाजन बढ़ा है। उन्होंने जोर देते हुए कहा, हमारी पार्टी (नेकां) सांप्रदायिक सौहार्द में विश्वास करती है और जम्मू व कश्मीर के सभी क्षेत्रों के बीच एक सेतु का काम करेगी। उन्होंने शेख अब्दुल्ला को कश्मीर का सबसे दिग्गज नेता करार दिया और कहा कि वे (शेख) राज्य में हिंदू-मुसलमान एकता के प्रतीक थे। पूर्व मुख्यमंत्री ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के आगामी पाकिस्तान दौरे को उम्मीद जताई कि पाकिस्तान के साथ ठप वार्ता फिर से शुरू होगा।
जमील खान
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned