BJP ज्वॉइन करने वाले 25 मुस्लिम परिवारों का हुआ बहिष्कार, मस्जिद जाने से भी रोका

Kapil Tiwari

Publish: Feb, 13 2018 06:44:41 (IST)

Political
BJP ज्वॉइन करने वाले 25 मुस्लिम परिवारों का हुआ बहिष्कार, मस्जिद जाने से भी रोका

बीजेपी ज्वॉइन करने वाले परिवारों का गांव के मुस्लिम लोगों ने बहिष्कार कर दिया है और मस्जिद जाने से भी रोक दिया है।

अगरतला: 18 फरवरी को नॉर्थ ईस्ट के तीन राज्यों में चुनाव होने हैं। मेघालय, त्रिपुरा और नागालैंड में 18 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होगी। ऐसे में बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही राज्यों में चुनाव जीतने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रही हैं। इस बीच त्रिपुरा से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, त्रिपुरा में भी हिंदू-मुसलमान का मुद्दा चुनाव प्रचार का हिस्सा बन गया है। खबर है कि त्रिपुरा में 25 मुस्लिम परिवारों ने भाजपा ज्वॉइन की और अब उन परिवारों का मुस्लिम समाज ने बहिष्कार कर दिया है और उन लोगों को मस्जिद जाने से भी रोक दिया गया है।

25 मुस्लिम परिवारों ने ज्वॉइन की बीजेपी
दरअसल, ये मामला त्रिपुरा के शांतिबाजार का है, जहां मोयदातिला एक गांव है, जिसमें 80-85 मुस्लिम परिवार रहते हैं। बताया जा रहा है कि इनमें से 25 मुस्लिम परिवारों ने भाजपा ज्वॉइन कर ली है। इसके बाद अन्य मुस्लिम परिवारों ने बीजेपी ज्वॉइन करने वाले मुस्लिम परिवारों का बहिष्कार कर दिया और उनका मस्जिद जाना भी रूकवा दिया। इसके बाद इन लोगों को अपने लिए अलग एक मस्जिद का निर्माण कराना पड़ा है। बताया जा रहा है कि इस गांव में 2 मस्जिद हैं।

मुस्लिम समाज के लोगों ने मस्जिद जाने से रोका
मोयदातिला गांव के रहने वाले बाबुल हुसैन बताते हैं कि उन्होंने हम 16 महीने पहले भाजपा ज्वॉइन की थी। हुसैन बताते हैं कि बीजेपी ज्वॉइन करने के बाद गांव के मुस्लिम समाज के लोगों ने नाराजगी जाहिर की और हमसे कहा गया कि तुम गांव की मस्जिद में नमाज नहीं पड़ सकते। हमसे कहा गया कि जबतक हिंदुवादी पार्टी का समर्थन करेंगे मस्जिद में नमाज नहीं पढ़ सकते। मस्जिद में नमाज ना पढ़ने की वजह से इन लोगों ने अब टीन की मस्जिद बनाई है। बांस की मदद से छत का निर्माण किया गया है। मस्जिद के लिए अलग इमाम भी नियुक्त किए गया है, जिन्हें 25 परिवारों की मदद से मासिक सैलरी भी दी जाती है।

BJP हिंदुत्व पार्टी है, ये अफवाह CMP और कांग्रेस ने फैलाई है- हुसैन
हुसैन कहते हैं कि गांव के लोगों ने हमसे कहा कि बीजेपी एक हिंदुत्व पार्टी है और अगर तुम उस पार्टी का समर्थन करोगे तो गांव की मस्जिद में नहीं जा सकते। हुसैन कहते हैं कि हमें नहीं पता कि बीजेपी हिंदुत्व पार्टी है। मैं नहीं जानता कि देश के किसी भी कोने में बीजेपी समर्थकों ने मुस्लिमों पर हमला किया है। ये सब कांग्रेस पार्टी और सीपीएम की फैलाई गई अफवाहें हैं। अगर कोई मुस्लिम मारा गया है किसी विवाद में तो इसका ये मतलब बिलकुल नहीं लगाया जाना चाहिए कि बीजेपी वालों ने उन्हें मारा है, मैं कहना चाहता हूं कि जरूर मुस्लिमों ने ही कुछ गलत किया होगा। कोई किसी अच्छे आदमी को क्यों मारेगा?

CPM समर्थक फारूक भी बने भाजपाई
फारूक इस्लाम भी बीजेपी में शामिल हुए हैं उन्होंने कहा कि मेरा परिवार सीपीएम का समर्थक रहा है लेकिन अब हमने सोच लिया है कि हम बीजेपी का समर्थन करेंगे। हम इतने सालों से सीपीएम का समर्थन करते रहे लेकिन हमारे गांव में न तो बिजली है और न पीने का पानी। उसने बताया कि सीपीएम के नेता अब घमंडी हो गए हैं। वो हमें हमारी मस्जिद का निर्माण नहीं करने दे रहे हैं।

1
Ad Block is Banned