केंद्रीय गृहमंत्री व जम्‍मू-कश्‍मीर की मुख्‍यमंत्री की मौजूदगी में राष्‍ट्रगान का अपमान के मामले की पुलिस करेगी जांच

केंद्रीय गृहमंत्री व जम्‍मू-कश्‍मीर की मुख्‍यमंत्री की मौजूदगी में राष्‍ट्रगान का अपमान के मामले की पुलिस करेगी जांच

Mazkoor Alam | Publish: Jun, 13 2018 10:21:56 AM (IST) राजनीति

गृहमंत्री राजनाथ सिंह और महबूबा मुफ्ती की मौजूदगी में इफ्तार पार्टी में राष्‍ट्रगान के अपमान का का मामला सामने आया है।

नई दिल्‍ली : जम्‍मू-कश्‍मीर की मुख्‍यमंत्री मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती की इफ्तार पार्टी में गृहमंत्री राजनाथ सिंह समेत कई गणमान्‍य लोगों की उपस्थिति में राष्‍ट्रगान का सम्‍मान न करने के विवाद पर राज्‍य के डीजीपी एसपी वैद ने अपनी चुप्‍पी तोड़ी है। मालूम हो कि वह भी इस इफ्तार पार्टी में मौजूद थे। उन्‍होंने एक टीवी चैनल पर यह स्‍वीकार किया कि वह भी राज्‍य की मुख्‍यमंत्री की ओर से दी गई इस इफ्तार पार्टी में मौजूद थे। हालांकि उन्‍होंने यह भी कहा कि तब तक राष्‍ट्रगान के अपमान का मामला प्रकाश में नहीं आया था। अब हम उस वीडियो को देखेंगे इसके बाद इस पर एक बार फि‍र बात करेंगे। हम इस मामले की जांच करेंगे और उसके बाद अगर कोई व्‍यक्ति दोषी पाया जाता है तो उस पर कार्रवाई करेंगे।
बता दें कि महबूबा मुफ्ती ने पिछले हफ्ते गुरुवार को इफ्तार पार्टी का आयोजन किया था और यह कहा जा रहा है कि इफ्तार पार्टी में राष्‍ट्रगान बजने के दौरान कुछ लोगों ने इसका अपमान किया था।

कई गणमान्‍य लोग थे शामिल
गुरुवार की इस इफ्तार पार्टी में कई गणमान्‍य लोग शामिल थे। इन हस्तियों में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के अलावा राज्यपाल एनएन वोहरा, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के साथ सेना, पुलिस और नागरिक प्रशासन के कई वरीय अधिकारी भी मौजूद थे। इतने गणमान्‍य लोगों की उपस्थिति में राष्‍ट्रगान के अपमान का मामला प्रकाश में आने की वजह से यह तूल पकड़ता जा रहा है।

गृहमंत्री ने शरणार्थियों को आर्थिक मुआवजा देने का किया था ऐलान
बता दें कि उस वक्‍त राजनाथ सिंह जम्‍मू कश्‍मीर के दो दिवसीय दौरे पर थे। वह एंटी-टेररिस्ट ऑपरेशन को स्थगित करने के निर्णय की समीक्षा करने गए थे। इस दौरान उन्‍होंने पश्चिम पाकिस्तान से आकर जम्मू-कश्मीर में बसने वाले प्रत्येक शरणार्थी परिवार को साढ़े पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा के साथ राज्‍य की स्थिति बेहतर करने और लोगों की समस्याओं को दूर करने के लिए और कई बड़े ऐलान किए थे। बता दें कि मुआवजे से 5,764 शरणार्थियों को फायदा मिलेगा।

महिला बटालियन स्‍थापित करने की घोषणा की
राजनाथ सिंह ने नौ में से दो बटालियनों को बॉर्डर एरिया में स्थापित किया जाएगा और इनका नाम भी बॉर्डर बटालियन ही होगा। इसके अलावा जम्मू और कश्मीर मंडल में दो महिला बटालियन और पांच ऐसी ‘इंडियन रिजर्व बटालियन’ स्थापित की जाएंगी, जिनमें 60 प्रतिशत सीट सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए आरक्षित होंगी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned