राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी: पीएम मोदी भाजपा कार्यकर्ताओं को आज देंगे जीत का मंत्र, पेश होगा सियासी प्रस्‍ताव

राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी: पीएम मोदी भाजपा कार्यकर्ताओं को आज देंगे जीत का मंत्र, पेश होगा सियासी प्रस्‍ताव

Dhirendra Mishra | Publish: Sep, 09 2018 12:58:17 PM (IST) राजनीति

लोकसभा और विधानसभा चुनावों के मद्देनजर पीएम के भाषण को काफी अहम माना जा रहा है।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 की सियासी रणनीति पर चर्चा के लिए भाजपा की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक जारी है। कार्यकारिणी की बैठक में आज पीएम नरेंद्र मोदी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को चुनावी जीत का मंत्र देंगे। साथ ही मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम के विधानसभा चुनाव को लेकर भी वो कार्यकर्ताओं को अहम संकेत दे सकते हैं। दोनों नजरिए से पीएम मोदी के भाषण को काफी अहम माना जा रहा है।

समरसता का मंत्र
संभावना इस बात की जताई जा रही है कि एससी-एसटी ऐक्ट में संशोधन के बाद सवर्णों की नाराजगी झेल रही भाजपा को उबारने के लिए मोदी समरसता का मंत्र भी कार्यकर्ताओं को पढ़ाएंगे। दूसरे दिन राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने के लिए मध्‍य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान, महाराष्‍ट्र के सीएम देवेंद्र फड़णवीस, उत्‍तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत व अन्‍य राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री वहां पहुंच चुके हैं। पीएम मोदी के वहां पहुचंने पर शिवराज सिंह चौहान ने उनकी आगवानी की। आज की बैठक में आर्थिक और राजनीतिक प्रस्तावों पर विमर्श होगा।

विकास और संगठन की ताकत पर लड़ेंगे चुनाव
आपको बता दें कि शनिवार को राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के पहले दिन पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने बैठक को संबोधित किया, जिसमें उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव आसानी से जीतने का फॉर्मूला बताया। पहले दिन पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने आगामी लोकसभा चुनाव आसानी से जीतने का फॉर्मूला बताया। भाजपा अध्‍यक्ष ने बताया कि 19 राज्यों में भाजपा की सरकार है। जहां हम आसानी से चुनाव जीत जाएंगे। इसके अलावा पश्चिम बंगाल, ओडिशा और तेलंगाना जैसे राज्यों में हम दूसरे नंबर पर हैं। इन राज्यों में एंटी-इनकंबेसी का फायदा भाजपा को मिलेगा। साथ ही हम आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे। शाह ने कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव मोदी सरकार की उपलब्धियों और हम अपनी संगठन की शक्ति के बल पर लड़ेंगे। उन्‍होंने इस बात को भी दोहराया कि एनआरसी को देश भर में लागू करेंगे। भविष्‍य में एक भी घुसपैठिए भारत नहीं आ पाएंगे। उन्‍होंने अटल जी को याद करते हुए बताया कि उनके निधन के बाद देश की राजनीति में जो रिक्तता आई है, उसको भरना संभव नहीं है।

Ad Block is Banned